सरकार का राशनकार्ड पर बड़ा फैसला, इग्नोर करना पड़ सकता है भारी

0

देहरादून। राज्य सरकार ने तय किया है कि अब सब्सिडी सीधे घर के मुखिया के खाते में आएगी। इसके लिए मुखिया के खाते खुलवाने की प्रक्रिया शुरू करा दी गई है और अब तो इसके लिए फॉर्म भी भरने शुरू कर दिए गए हैं। बताते चलें, एपीएल राशनकार्ड धारकों को सब्सिडी पाने के लिए अपने घर के मुखिया का खाता देना होगा। ऐसे में जिनके पास खाते नहीं हैं उनके खाते खुलवाने की प्रक्रिया शुरू करा दी गई है।

Image result for aadhar card

दरअसल, डायरेक्ट बेनीफिट ट्रांसफर (डीबीटी) से जोड़ते हुए सरकार अंत्योदय राशनकार्डों के जरिए सब्सिडी सीधे पात्र व्यक्तियों के खातों में ही देगी। यह सब राज्य खाद्य योजना के तहत डीबीटी के जरिए हो रहा है क्योंकि इसके जरिए सब्सिडी सीधे पात्र व्यक्तियों के खातों में देने का प्रावधान लागू हो रहा है। यह नवम्बर से लागू कर दिया गया है।

Image result for aadhar card

बताते चलें, इस योजना के तहत अब हर राशनकार्ड धारक को 185 रुपये मिलेंगे जोकि धारक के खाते में जाएंगे। इसके आने के बाद धारक खाद्यान्न की खरीदारी बाजार से कर सकता है। वहीँ, खबर ये भी है कि अब एपीएल राशनकार्ड धारकों के खाते में उतनी ही सब्सिडी आएगी जितनी चावल की कीमत होगी।

Image result for aadhar card

वहीं, अंतोदय राशनकार्ड धारकों के लिए भी राज्य के कुछ जिलों में चीनी आ गई है। वैसे राशनकार्डों पर चीनी मिलने की उम्मीद तो धारकों को दिवाली पर थी लेकिन दिवाली गुजरने के 23 दिन बाद भी धारकों को चीनी नहीं मिल सकी, जबकि चीनी तो अगस्त, सितंबर और अक्तूबर के प्रत्येक राशनकार्ड एक किलो मिलनी थी।

loading...
शेयर करें

आपकी राय