कर्नाटक चुनाव: राज्यपाल ने इस पार्टी को दिया सरकार बनाने का पहला मौका…

0

बेंगलुरु: कर्नाटक विधानसभा अब त्रिशंकु सरकार की तरफ बढ़ चली है। अभी तक चर्चा थी कि कांग्रेस के साथ गठबंधन कर जेडीएस सूबे की सत्ता पर आधिपत्य जमाएगी और देवगौड़ा के बेटे कुमारस्वामी मुख्यमंत्री के रूप में नजर आ सकते हैं लेकिन सूबे की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी बीजेपी (104) ने कांग्रेस के इस खेल को भी बिगाड़ना शुरू कर दिया है। भले ही जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन के पास 116 सीटें हैं लेकिन राज्यपाल ने सरकार बनाने का पहला मौका सूबे की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा को दिया है।

यह भी पढ़ें- पहली बार भाजपा के समर्थन से विधायक बनेगा कांग्रेस प्रत्याशी…औपचारिक ऐलान का इंतजार

आजतक न्यूज चैनल से मिली जानकारी के अनुसार, मतदान की गणना होने के बाद कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन और बीजेपी दोनों ने सरकार बनाने के दावे को लेकर राज्यपाल वजुभाई वाला का दरवाजा खटखटाया। हालांकि, राज्यपाल ने भाजपा को तवज्जो देते हुए पहले बीएस येदयुरप्पा से मुलाक़ात की और इस मुलाक़ात ने कांग्रेस के खेल पर पानी फेर दिया है।

दरअसल, दावा किया जा रहा है कि भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार येदयुरप्पा ने राज्यपाल से सरकार बनाने का पहला मौका मांगा है। इसके लिए उन्होंने दो दिन का मौका भी मांगा है। वहीं कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की ओर से कुमारस्वामी भी राज्यपाल से मुलाक़ात कर रहे हैं। अभी यह साफ़ नहीं हो सका है कि सरकार किसकी बनेगी लेकिन आजतक ने अपने न्यूज में यह जरूर बताया है कि राज्यपाल सरकार बनाने का पहला मौका भाजपा को दे सकते हैं।

आपको बता दें कि 222 सीटों पर हुए इस मतदान में 78 सीटें कांग्रेस, और 38 सीटें जेडीएस को हासिल हुई हैं। जबकि चुनाव में 104 सीटें जीतकर भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। अब देखना यह है कि अगर राज्यपाल ने वाकई पहले सरकार बनाने का मौक़ा भाजपा को दे दिया, तो अमित शाह की अगुवाई वाली यह पार्टी 104 से 112 तक का सफ़र किस तरह तय करती हैं। साफ़ है कि अब तोड़फोड़ का मामला शुरू होने वाला है। वैसे आजतक ने अपनी खबर में यह भी बताया है कि जेडीएस के पांच विधायक भाजपा के संपर्क में हैं।

 

loading...
शेयर करें