गुजरात : सत्ता मिलने के बाद भी खतरे में बीजेपी सरकार, कांग्रेस ने चली ये बड़ी चाल

0

अहमदाबाद। भले ही गुजरात में बीजेपी की सरकार बन गई है लेकिन आगे की राह उनके लिए आसान नहीं है। डिप्टी सीएम नितिन पटेल को उनका मनचाहा मंत्रालय न मिलने के कारण वो पार्टी से नाराज़ हैं। उधर कांग्रेस विधायक विरजी थुम्मर ने मौके का फायदा उठाते हुए नितिन पटेल को खुला ऑफर दिया है कि वे 10-15 विधायकों को बीजेपी से तोड़कर लाएं और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाएं।

कांग्रेस ने नितिल पटेल को दिया ये ऑफर

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘उन्होंने नितिनभाई पटेल से सारे अच्छे विभाग ले लिए हैं। उनके प्रभार दूसरों को सौंप दिए गए हैं। मैं नितिन भाई से उन्हें समर्थन देने वाले 10-15 विधायकों के साथ आने का अनुरोध करता हूं और हम (कांग्रेस) उन्हें बाहर से समर्थन देंगे।’’

थुम्मर ने आगे कहा , ‘‘गुजरात के विकास और किसानों के लाभ के लिए हमें एक साथ काम करना चाहिए। मैं उन्हें एक मित्र के रूप में बताना चाहता हूं कि भाजपा उनका गलत इस्तेमाल कर रही है।’’

नितिल पटेल ने दिया ये जवाब

हालांकि नितिन पटेल ने पार्टी से इस्तीफा देने और कांग्रेस में शामिल होने वाली बात से साफ इन्कार किया है। उन्होंने आगे कहा है कि ये बात सिर्फ मान-सम्मान की है, न कि सत्ता की। इस मसले पर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से भी बात हुई है। नितिन पटेल ने कहा कि मैं अपने घर पर ही हूं। कोई भी मुझसे मिलने आ सकता है। हार्दिक पटेल भी आ जाए तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।

उधर पाटीदार अपने नेता के लिए सड़कों पर उतरने के लिए तैयार हैं। गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल का समर्थन करते हुए पाटीदार नेता लालजी पटेल ने एक जनवरी को मेहसाणा बंद करने का आह्वान किया है। माना जा रहा है कि ये पाटीदारों की ओर से बीजेपी हाईकमान को अल्टीमेटम है कि वो नितिन पटेल को उनका मनचाहा मंत्रालय दें, नहीं तो पाटीदार बगावत कर सकते हैं।

 

loading...
शेयर करें