पूरे भारत में बाढ़ का कहर जारी, गुजरात में 100 से ज्‍यादा की मौत

0

नई दिल्ली। मानसून पूरे भारत में आ चुका है। इस वजह से सभी जगह बारिश का कहर जारी है। बारिश से सबसे ज्‍यादा गुजरात प्रभावित हुआ है। लगभग सभी जिलों में बाढ़ का असर देखा जा सकता है।

गुजरात समेत कई राज्‍यों में है बाढ़ का असर

राजस्‍थान, गुजरात मध्‍य प्रदेश, पश्चिम बंगाल और असम में भी बाढ़ का कहर जारी है। फसलें चौपट हो गई है। एनडीआरएफ की टीमें रेस्‍कयू ऑपरेशन में जुटी हैं। बाढ़ की वजह से जीना मुहाल हो गया है। गुजरात में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई।

यह भी पढ़ें:  अपने गुजरात के लोगों को बाढ़ से बचाने खुद मोदी चल पड़े, दिल्ली से…

राजस्‍थान के हालात भी ठीक नहीं

राजस्थान के जालौर की हालत काफी खराब है। जोधपुर के हाइवे के पास पिछले एक हफ्ते से हो रही लगातार बारिश ने जनजीवन नर्क बना दिया है। पास के एक गांव में बाढ़ की वजह से बांडी नदी के ऊपर बना पुल टूट गया है जिसकी वजह से हाईवे पर 5 से 6 फीट उंचाई तक पानी भर गया है और आवाजाही पूरी तरह ठप है।

यह भी पढ़ें:  पूरे भारत में बाढ़ का कहर, NDRF टीम रेस्‍क्‍यू में जुटी

श्रीलंका में बाढ़

बनासकांठा का बहुत बुरा हाल

गुजरात के बनासकांठा का हाल काफी बुरा है। यहां लगातार कई दिनों से हो रही भयंकर बारिश ने तबाही मचा रखी है। गुजरात में बाढ़ की बजह से सबसे ज्यादा नुकसान बनासकांठा को ही हुआ है। अबतक यहां करीब करीब 57 लोगों की जान भी जा चुकी है। रविवार को गुजरात के सीएम विजय रुपानी ने बनासकांठा में बाढ़ प्रभावित लोगों से मुलाकात कर उन्हें मुवाअजे का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें: भारी बारिश से उत्‍तर भारत में बाढ़ का कहर, असम से लेकर कश्‍मीर तक…

भारी बारिश पीडि़तों ने कफन के साथ किया प्रदर्शन

बड़वानी में बाढ़ पीड़ितों ने कफन के साथ प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ कफन सत्याग्रह कर अपना दर्द बयां किया। सरकार और प्रशासन के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर कर रहे इन लोगों का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी की मन की बात में गुजरात में 26 लोगों की मौत पर संवेदना व्यक्त कर रहे हैं लेकिन बाढ़ प्रभावित दो लाख लोगों के लिए कोई संवेदना व्यक्त नहीं की।

loading...
शेयर करें

आपकी राय