स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने बुलाई इमरजेंसी बैठक, कड़े होंगे इंतजाम

0

नई दिल्‍ली। राष्‍ट्रीय राजधानी नई दिल्‍ली गैस चैम्‍बर में बदल चुकी है। सभी लोगों को दिक्‍क्‍तों का सामना करना पड़ रहा है। इसको लेकर एनजीटी ने केजरीवाल सरकार को फटकार भी लगाई है। वहीं केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री जेपी नड्डा ने एक इमरजेंसी बैठक बुलाई है।

जे. पी. नड्डालगातार नजर बनाए रखी है सरकार

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री नड्डा ने बताया कि सरकार हालात पर नजर रखे हुए है। सभी जिम्‍मेदार विभागों को इस बारे में एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है। नड्डा ने कहा कि जितना प्रिवेंटिव स्टेप ले सकते हैं, ले रहे हैं। नजर बनाई हुई है। साथ-साथ स्टेट के साथ कोर्डिनेशन कर रहे हैं।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की इमरजेंसी बैठक कल

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि हमारे मंत्रालय ने हालात से निपटने के लिए कल एक बैठक भी बुलाई है, जिसमें स्थिति की समीक्षा की जाएगी। स्मॉग के दौर में एक्सीडेंट के चांसेस बनते हैं और ट्रॉमा बढ़ता है। इसके लिए हमने अलग से व्यवस्था की है। हम सब चीजों पर नजर बनाए हुए हैं।

एनजीटी ने अपनाया सख्‍त रुख

हालात को देखते हुए एनजीटी ने गुरुवार को दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार और पड़ोसी राज्‍यों की सरकारों की फजीहत की है। एनजीटी ने सख्‍त लफ्जों में कहा कि आप लोग किसी से भी जीने का अधिकार नहीं छीन सकते। पर्याप्‍त कदम उठाने पड़ेंगे।

13 से लागू होगा ऑड-इवन

वहीं यह भी खबर मिली है कि 13 से 17 नवंबर तक राजधानी दिल्‍ली में ऑड-इवन लागू होगा। सारी स्थिति को ध्‍यान में रखते हुए इसका निर्णय लिया गया है।

loading...
शेयर करें

आपकी राय