यहां मिलती है महिलाओं को हफ्ते में एक छुट्टी, रोचक होता है यह अवकाश   

0

देहरादून। दुनिया के तमाम देशों में एक दिन का अवकाश दिया जाता है। यह सुविधा कई देशों में रविवार के दिन तय हैं, तो कही पर अन्‍य दिन दिया जाता है। लेकिन घर में काम करने वाली महिलाओं के लिए किसी दिन भी छुट्टी का दिन नहीं तय किया गया है। वहीं अगर देखा जाए तो शहर की महिलाएं कभी कभी यह अवसर निकाल लेती है। जबकि गांव की महिलाओं का यह लाभ सालों बीत जाने के बाद भी नहीं मिलता है।

सांकेतिक

लेकिन उत्‍तराखंड का एक गांव ऐसा है जो महिलाओं को एक दिन का अवकाश देता है। इस दिन ये महिलाएं बाहर का कोई भी काम नहीं करती है। बल्‍कि इस दिन ये किसी खास पल को पार्टी की तरह से मनाती हैं। बता दें कि यह अवसर पहाड़ के गांवों में चारापत्ती, पानी, पशुपालन, खेती जैसे कामों में दिनरात जुटी रहने वाली महिलाओं के लिए आराम शब्द किसी कल्पना से कम नहीं है।

यह भी पढ़ें- प्रकाश पांडे की मौत बाद पुलिस विभाग ने उठाया बड़ा कदम, अब ऐसा रहेगा मंत्रियों का जनता दरबार

महिलाओं को एक दिन का अवकाश देने वाला इस गांव का नाम शुक्री, जो टिहरी जनपद के अंतर्गत आता है। महिलाओं को दिया जाने वाली यह छुट्टी आज से नहीं बल्‍कि बहुत दिनों से जारी है। यह व्‍यवस्‍था दिये जाने का चलन उस समय से है जब महिलाओं को समाज में ठीक से उठने-बैठने का भी अधिकार नहीं था। रविवार के दिन इस गांव की महिलाएं अवकाश का दिन मनाती है। जिसकी नीव 1956 से डाली गई थी।

loading...
शेयर करें