उत्तराखंड के अस्पतालों से होगी ई-अस्पताल बनाने की शुरुआत, पढें पूरी जानकारी

0

उत्तराखंड। माना जा रहा है कि पीएम मोदी के साल 2015 में डिजीटल इंडिया के सपने ने एक कदम और बढ़ रहा है। हाल ही में यह घोषणा की गई है कि उत्तराखंड के कुछ अस्पतालों को ई-अस्पताल के रुप में बनाया जाएगा। इस खबर को सुनने के बाद जल्द किसी को समझ नहीं आ रहा कि आखिर कैसे बनेगा ये, और काम कैसे करेगा। इस बात की पूरी जानकारी के लिए पढें ये खबर-

राष्ट्रीय हेल्थ मिशन के तहत प्रदेश के कई अस्पतालों को ई-अस्पताल बनाने की तैयारी हो चुकी है। जिसकी शुरुआत उत्तराखंड के अल्मोड़ से की गई है। कहा जा रहा है इस मिशन के पूरे हो जाने के बाद सभी अस्पताल और उसके सिस्टम ऑनलाइन हो जाएंगे। साथ ही वहां मौजूद मरीजो को एक आईडी भी मिलेगी जिसके माध्यम से मरीज अपनी पूरी जानकारी ई-अस्पताल में जाकर डॉक्टर से बता सकेगा।

मिली जानकारी के मुताबिक इसकी ढाचा सिल्वर टच टेक्नोलॉजी के जरिए बनेगा। जिसके बाद सिल्वर टच के इंजीनियर दो महीने के अंदर ही अल्मोड़ा के अंदर ई-अस्पताल बना देंगे। फिर धीरे धीरे इसकी शुरुआत होकर सारी सुविधाएं भी शुरु कर दी जाएंगी।

इन अस्पतालों में महिला और जिला अस्पताल हरिद्वार, एसपीएस ऋषिकेश, कोरोनेशन अस्पताल देहरादून, बेस अस्पताल हल्द्वानी, जिला अस्पताल अल्मोड़ा, जिला अस्पताल ऊधमसिंह नगर, मेडिकल कालेज श्रीनगर गढ़वाल, दून मेडिकल कालेज देहरादून और मेडिकल कालेज हल्द्वानी जैसे अस्पताल शामिल हैं।

इन दो महीनों में अस्पताल में ओपीडी काउंटर, ओपीडी में मरीजों का रजिस्ट्रेशन, भर्ती मरीजों की डिटेल, बिलिंग, टेस्ट चार्जेज, इमरजेंसी में आने वाले मरीजों का पूरी तरह से प्रशिक्षण किया जाएगा। खबरों की माने तो ई-अस्पताल की शुरुआत होने के बाद मरीज अपना रेजिस्ट्रेशन ऑनलाइन भी करा सकेगा। मरीज की सारी जानकारी भी डिजिटल के माध्यमन से सुरक्षित रखी जाएगी।

loading...
शेयर करें