कैसा जाएगा आपका आज का दिन जानने के लिए पढ़ें राशिफल

0

*।।आज का पञ्चाङ्ग।।*

आप सभी का मंगल हो/10 फरवरी दिन शनिवार/ऋतु-शिशिर/माह-फाल्गुन/सूर्य-उत्तरायण/सूर्योदय-06:28/
सूर्यास्त-05:32/राहूकाल(अशुभसमय)प्रातः09:00से 10:30बजे तक/तिथि-दशमी/पक्ष-कृष्ण/
दिशाशूल-पूर्व व उत्तर/शुभदिशा-पश्चिम व दक्षिण/अभिजितमुहूर्त-दोपहर 12:13 से 12:57 तक/अमृतमुहूर्त-शायं 03 :22 से 04:45 तक/

।।आज का राशिफल।।

मेष:-आज आपका दिन सामान्य रहेगा किन्तु आपके पराक्रम में वृद्धि होगी। सामाजिक दायित्व की पूर्ति होगी। धर्म मार्ग का अनुसरण होगा।घर मे मांगलिक अवसर आएंगे।
सुझाव:-आज आप भगवान शिव को धतूरे का फल अर्पित करें।
राशिरुद्राक्ष:-तीन मुखी व चौदह मुखी
शुभरंग:-कत्थई

वृष:-आज व्यापार में धन का लाभ होगा। परिजनों का व मित्रों का सहयोग मिलेगा। कृषिकार्यों में लाभ बाधित हो सकता है राजकाज में सफलता मिलेगी।यश लाभ होगा।
सुझाव:-आज आप केले का दान किसी हनुमान मंदिर में करें।
राशिरुद्राक्ष:-तेरह ,छः, व दश मुखी
शुभरंग:-नीला

मिथुन:-आज पारिवारिक सहयोग से मन प्रसन्न होगा। अच्छा समाचार प्राप्त होगा। अकस्मात कारोबार से लाभ होगा। साझेदारी से फायदा होगा।शैक्षिक कार्यों में मन नहीं लगेगा।
सुझाव:-आज आप गुलाब के पुष्पों की माला श्री सीताराम जी को अर्पित करें।
राशिरुद्राक्ष:-तेरह मुखी व ग्यारह मुखी
शुभरंग:-फिरोजी

कर्क:-आज सुखद यात्रा के योग बन सकेंगे। आय की अपेक्षा व्यय बढेगा। परिवार से पूर्ण सहयोग मिलेगा। विरोधी शांत होंगे। धन का लाभ होगा।कृषिकार्यों में अनुकूलता मिलेगी।
सुझाव:-आज आप दूध ,गुड़ व चावल का किसी हनुमानमन्दिर में दान करें।
राशिरुद्राक्ष:-दो मुखी व गौरीशंकर
शुभरंग:-आसमानी

सिंह:-आज व्यवहार में तनाव कम होगा। मनोबल बढेगा। नव ऊर्जा का संचार होगा। व्यापार से सफलता की ओर गति होगी। पारिवारिक सहयोग मिलेगा व यात्रा के सुंदर योग बनेंगे।
सुझाव:-आज आप अपने बराबर हरा चारा गाय को खिलावें।
राशिरुद्राक्ष:-ग्यारह मुखी व बारह मुखी
शुभरंग:-महरून

कन्या:-आज व्यापार से मध्यम लाभ होगा। नौकरी में उन्नति प्राप्त हो सकेगी। स्थान परिवर्तन से लाभ होगा। यश, मान, प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।पारिवारिक सहयोग से रुका धन मिल सकता है।
सुझाव:-आज आप चनेकी दान व गुड़ किसी विप्र को दें।
राशिरुद्राक्ष:-तेरह मुखी व ग्यारह मुखी
शुभरंग:-पिस्ता

तुला:-आज व्यवसाय में आंशिक धन का लाभ होगा। कार्य में नई योजना बनेगी। किसी प्रियजन से मिलाप होगा। मित्रों का सहयोग प्राप्त हो सकेगा। शैक्षिक कार्यों में देर से प्रगति मिलेगी।
सुझाव:-आज आप दूर्वांकुर व हल्दी भगवान श्री गणेश को अर्पित करें।
राशिरुद्राक्ष:-तरह मुखी,छः मुखी,व दश मुखी
शुभरंग:-पर्पल

वृश्चिक:-आज आपको स्वास्थ्य का लाभ होगा। स्थान परिवर्तन से मन प्रसन्न रहेगा।सुदूर की यात्रा से थकावट महसूस हो सकता है।कृषिकार्यों से धनागमन होगा।
सुझाव:-आज आप पीली मिठाई का दान विप्र को करें।
राशिरुद्राक्ष:-तीन मुखी व चौदहमुखी
शुभरंग:-बादामी

धनु:-आज आपके पराक्रम व प्रतिष्ठा में बढोत्तरी होगी। किसी नये मित्र के मिलने से प्रसन्नता मिलेगी। व्यापार व कारोबार से लाभ होगा।व्यक्ति विशेष से तनाव मिल सकता है।
सुझाव:-आज उड़द का पापड़ व गुड़ दान करें।
राशिरुद्राक्ष:-एकमुखी व सात मुखी
शुभरंग:-धानी

मकर:-आज आपका व्यापार मध्यम रह सकता है। परिवार में सामंजस्य बन सकेगा। किसी अधिकारी से अनबन हो सकती है।कार्य व्यवहार से रूखापन हटाएं।
सुझाव:-आज आप काले तिल का दान करें।
राशिरुद्राक्ष:-एक मुखी व चौदह मुखी
शुभरंग:-हरा

कुम्भ:-आज आपको कारोबार में अकस्मात वृद्धि होने की संभावना बन सकती है। पुराना काम बन सकता है, साझेदारी से फायदा होगा। संतान द्वारा सहयोग मिलेगा।
सुझाव:-आज आप सरसों का तेल दान करें।
राशिरुद्राक्ष:-एक मुखी व चौदहमुखी
शुभरंग:-सुनहला

मीन: –आज व्यापार में अधिक व्यय सम्भव है किन्तु यश, मान, प्रतिष्ठा का लाभ मिलेगा।आज यात्रा से लाभ होगा। नौकरी में तरक्की मन्द गति से होगी।
सुझाव:-आज काली उड़द की दाल दान करें।
राशिरुद्राक्ष:-सात मुखी व चौदहमुखी
शुभरंग:-पीला

।। आज के दिन का विशेष महत्व।।
1 आज शिशिर ऋतु फाल्गुन माह कृष्ण पक्ष दशमी तिथि है।
2 आज स्वमीदयानन्द सरस्वती जयंती है।

।।प्रेरणादाई चौपाई।।
आजु सुफल तपु तीरथ त्यागू।
आजु सुफल जप जोग बिरागू।।

अर्थ:-श्री भरद्वाज जी प्रभू श्री सीताराम व लखन भैया को अमृत के समान मीठे फल पाने को देते है जब प्रभू का श्रम दूर हुवा तोभरद्वाज जी ने कहा कि प्रभू आज हमारी तपस्या, तीर्थ और त्याग सफल हुए अर्थात इन सब का फल प्रभू श्री सीताराम के दर्शन ही है स्वयं श्री राघव जी कहते है कि
*मम दर्शन फल परम अनूपा।*
*जीव पाव निज सहज* *सरूपा।।*
भगवान के दर्शन का फल ही है जीव का अपना सहज स्वरूप प्राप्त करना यही भरद्वाज जी परमात्मा से कह रहे है।
“अस्तु सहज होना परमात्मा के करीब जाने का सरलतम मार्ग है।”

।।वास्तु टिप।।
आँवले का वृक्ष घर अथवा प्रतिष्ठान की सीमा में होना शुभ होता है। अशुभ वास्तु दोष का नाश होता है।

।।इति शुभम्।।

।।आचार्य स्वमी विवेकानन्द।।
।।ज्योतिर्विद , वास्तुविद व सरस् कथा व्यास।।
।।श्री अयोध्या धाम।।
संपर्क सूत्र-9044741252

loading...
शेयर करें