कैसा जाएगा आपका आज का दिन जानने के लिए पढ़ें राशिफल

0

 

■आज का पंचांग■

/आज का दिन मंगल मय हो/13नवम्बर दिन सोमवार/ऋतु- शरद /मास-मार्गशीष/सूर्य दक्षिणायन/
सूर्योदय:-06:35/सूर्यास्त:-05:25/राहू काल(अशुभ समय) प्रातः07:30से 09:00 तक/
तिथि-दशमी/पक्ष:-कृष्ण/दिसाशूल-पूर्व/अमृतमुहूर्त- प्रातः09:31से10:50तक/

।।आज का राशिफल।।

(ला, ली, लू, ले ,लो , चे, चो ,अ, कू)
मेष:- आज आपके रुके हुए कार्य पूर्ण हो सकते हैं।रचनात्मक कार्यों में प्रगति।परिवार में थोड़ा बहुत अनबन हो सकती है।मन अशांत रहेगा।शत्रुओं से मित्रता होने की संभावना है।अनावश्यक धन व्यय हो सकता है।

सुझाव:- आज आप गऊ की सेवा करें लाभ होगा।

शुभ रंग:-केसरिया।

(वा, वी, वि, वू , वे ,वो ,ई ,उ, ए, ओ)
वृष:- आज आपका मन प्रसन्न रहेगा।नए कार्यों में रुचि बढ़ेगी।व्यवसाय में प्रगति।मनोरंजन के अवसर प्राप्त होंगे।दाम्पत्य जीवन में मधुरता बनी रहेगी।व्यस्तता अधिक रहेगी।गुरुजनों से सहयोग प्राप्त होने की संभावना है।

सुझाव:- आज आप अन्न का दान करें लाभ होगा।

शुभ रंग :- पीला।

(का,की कु, के, को, हा, घ ,छ)
मिथुन:- आज आप अपने अतीत को लेकर थोड़ा चिंतित हो सकते हैं।जीविका के क्षेत्र में प्रगति होने की सम्भावना है।संगीत व कला के क्षेत्र में रुचि बढ़ेगी।मान-सम्मान में वृद्धि होगी।स्वास्थ्य उत्तम रहेगा।सुखद समाचार प्राप्त होंगे।

सुझाव:- आज आप श्री राम जी का स्मरण करके कार्य प्रारम्भ करें सफलता प्राप्त होगी।

शुभ रंग – हरा।

(डा, डी, डू, डे, डो, हे, हो,हू ,ही)
कर्क:- आज आपके स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है।पारिवारिक स्थितियाँ अनुकूल रहेंगी।पिता से सहयोग प्राप्त होगा।आप किसी नए कार्य को करने की योजना बना सकते हैं।नौकरी व प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त होगी।किसी विशेष कार्य में अड़चने आ सकती हैं।

सुझाव:- आज आप वृद्ध व्यक्तियों की सहायता करें लाभ होगा।

शुभ रंग – गुलाबी।

(मा, मी मू, मे, मो, टा, टि, टू, टै)
सिंह:- आज आपकी मनोकामना पूर्ण होने की सम्भावना है।खर्चे बढ़ सकते हैं।अतिथियों के आने की योजना बनेगी।मन प्रसन्न रहेगा।बहुप्रतीक्षित अभिलाषाओं की पूर्ति होगी।बिगड़े हुए कार्य बनेंगे।

सुझाव:- आज आप भगवान शंकर का दर्शन करें लाभ होगा।

शुभ रंग – धानी।

(पा, पि, पू, पे, पो, ष, म्, ठ, टो)
कन्या:- आज आप सामाजिक कार्यों में व्यस्त रहेंगे।निजी सम्बन्ध प्रगाढ़ होंगे।जीवनसाथी का सहयोग प्राप्त होगा।विरोधी परास्त होंगे।स्वास्थ्य उत्तम रहेगा।अचानक यात्रा का योग बन सकता है।शुभ समाचार प्राप्त होने की संभावना है।

सुझाव:-आज आप गणेश जी को दूर्वांकुर चढाएं लाभ होगा।

शुभ रंग – बैगनी ।

(रे, रो, रा, री, ता, ती, तू, ते)
तुला:- आज धार्मिक कार्यों में आपकी रुचि बढ़ेगी।आपके कार्यों की प्रशंशा होने की सम्भावना है।पारिवारिक माहौल अनुकूल रहेगा।भाइयों से सहयोग प्राप्त होगा।माता के स्वास्थ्य को लेकर थोड़ा चिंतित हो सकते हैं।आय के नए स्रोत बनेंगे।

सुझाव:- आज आप देवालय में लाल पुष्प चढ़ाएं लाभ होगा।

शुभ रंग – भूरा।

(ना ,नी, नू ,ने ,नो ,तो, या ,यी ,यू)
वृश्चिक:- आज आपको कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है।शत्रुओं से धनलाभ मिलेगा व्यापार में सामान्य लाभ होगा। साझा आर्थिक लाभ होगा।

सुझाव:- आज आप किसी पवित्र नदी में दीपदान करें लाभ होगा।
राशिरत्न:-मूँगा
शुभ रंग – मटमैला।

(ये,यो,भा, भी,भू, भे, ध, फ,ढ)
धनु:- आज आप सुदूर यात्रा करने की योजना बना सकते हैं।आर्थिक लाभ होने की सम्भावना बन रही है। व्यक्ति विशेष के सहयोग से न्यायिक कार्यों में आपके अनुकूल लाभ मिलेगा। नौकरी में सहभागियों से सहयोग मिलेगा।

सुझाव:- आज आप हनुमान जी का दर्शन करे लाभ होगा।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभ रंग – नीला।

(भे, जा,जी, जू, जे, जो, खी, खू,खे, खो,गा, गी)
मकर:- आज आप प्रियजनों से मुलाकात करेंगे।जीवनसाथी के साथ सम्बन्ध मधुर रहेंगे।व्यापार में सामान्य लाभ मिलेगा। चोरों से सचेत रहें। शैक्षिक कार्यों में लाभ मिलेगा यात्रा से सुख होगा।

सुझाव:- आज आप लेखनी का दान करें लाभ होगा।
राशिरत्न:-नीलम
शुभ रंग:- लाल।

कुम्भ:- आज आप किसी विशेष व्यक्ति से मुलाकात कर सकते हैं।भाई से सहयोग प्राप्त होने की सम्भावना है।माता को कष्ट हो सकता है। व्यापार में उत्तम लाभ मिलेगा।यात्रा से स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है।

सुझाव:- आज आप धार्मिक पुस्तकों का दान करें लाभ होगा।
राशिरत्न:-नीलम
शुभ रंग- बादामी।

(दी,दू,थ, झ, दे ,दो,चा, ची)
मीन:- आज आपका दिन अत्यधिक व्यस्त रहेगा।कार्यक्षेत्र में प्रगति होगी स्वादिष्ट भोजन व वाहन का सुख मिलेगा।व्यापार में लाभ होगा। नौकरी में सामान्य लाभ होगा।

सुझाव:- आज आप गणेश जी का दर्शन करें लाभ होगा।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभ रंग – धानी।

।।आज के दिन का विशेष महत्व।।

1.आज मार्गशीर्ष माह कृष्णपक्ष दशमी तिथि है।

।।प्रेरणा दाई चौपाई।।
नन्दीगाँव करि परन कुटीरा।
कीन्ह निवासु धर्म धुर धीरा।।

अर्थ:- गोस्वामी तुलसीदास जी वर्णन करते हैं कि श्री भरत जी प्रभु श्री राम की आज्ञा पाकर चित्रकूट से अयोध्या आये और अयोध्या की सीमा पर नंन्दीग्राम में जा कर उन्होंने फूस की एक कुटिया बनायी और धर्म के धुरि श्री भरत जी 14 वर्षों तक वहाँ तप करते हुवे निवास किये। वस्तुतः भ्रात प्रेम की परिसीमा है श्री भरत जी।।

।।वास्तु टिप।।
अपने घर मे नित्य गूगल व लोहबान को सुलगाने से वास्तु दोष व बाधा नही होती।

।।इति शुभम्।।

।।आचार्य स्वामी विवेकानंद।।
।।श्री अयोध्या धाम ।।
।।श्रीरामकथा, श्रीमद्भागवत व ज्योतिर्विद।।
संपर्क सूत्र- 9044741252

 

 

loading...
शेयर करें

आपकी राय