योगी राज में नहीं गली अपराधियों की दाल तो उत्तराखंड की तरफ किया पलायन, पुलिस की बड़ी मुश्किलें

0

देहरादून। उत्तराखंड में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बदमाशों का दबदबा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। अब तो इन बदमाशों का दबदबा इस कदर बढ़ गया है कि यें उत्तराखंड पुलिस पर भारी पड़ रहे हैं। बता दें कि उप्र में लगातार बदमाशों और अपराधियों को लेकर पुलिस कार्यवाही कर रही है, जिससे अब बदमाश उत्तराखंड का रुख कर रहे हैं।

उत्तराखंड में इन्ही बदमाशों ने पुलिस की नाक में दम करके रखा हुआ है। यहां पर यें बदमाश वारदात को अंजाम देकर निकल जाते हैं। इतना ही नहीं बदमाश आमना-सामना होने पर पुलिस पर गोली चलाने से भी नहीं चूक रहे। मिली जानकारी के मुताबिक पिछले साल 22 अक्टूबर को मंगलौर क्षेत्र में रोड होल्डअप कर रहे तीन बदमाशों ने पुलिस से मुठभेड़ होने पर फाय¨रग कर दी थी, जिसमें एक दारोगा गोली लगने से जख्मी हो गए थे।

बदमाशों  ने उत्तराखंड की तरफ क्यों किया रूख

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश में योगी आदित्तयनाथ की सरकार आने के बाद से अपराधियों की हालत खस्ता है। योगी सरकार ने पुलिस को अपराधियों पर कार्यवाही करने के लिए खुली छूट दे दी है। योगी सरकार कानून व्यवस्था को लेकर अपने शुरूआती समय से ही सख्त है। हाल ही में हुए प्रदेश में एनकाउंटर इस बात का प्रमाण है। यही खौफ बदमाशों को उत्तरप्रदेश से पलायन करने के लिए मजबूर कर रहा है। और यही बदमाश उत्तराखंड की पुलिस के लिए मुसीबत बने हुए है।

क्या है उत्तराखंड में अपराध का ग्राफ  

लूट हो या डकैती, हत्या हो या चोरी अधिकांश वारदातों में पश्चिमी उप्र के बदमाश ही रुड़की और आस-पास के क्षेत्र को दहला रहे हैं। पिछले साल जुलाई से लेकर अक्टूबर तक बदमाशों ने रोड होल्डअप और घर में बंधक बनाकर लूट की कई वारदातें की।

देहरादून में तैनात रोडवेज के सहायक महाप्रबंधक को स्टॉफ समेत बंधक बनाकर लूटा। बहादराबाद में भी बदमाशों ने रोड होल्ड अप में एक डॉक्टर की हत्या कर दी थी।

झबरेड़ा क्षेत्र के खजूरी और इकबालपुर में भी रोड होल्ड अप के तीन प्रयास हुए।

22 अक्टूबर को पुलिस और बदमाशों का ठसका गांव में आमना-सामना हुआ।

बदमाशों ने घेराबंदी करने पर लखनौता चौकी प्रभारी र¨वद्र को गोली मार दी थी। जवाबी फाय¨रग में एक बदमाश को भी गोली लगी थी। पकड़े गए बदमाशों में मुजफ्फरनगर का ही याकूब, महमूद, सतबीर उर्फ शहनवाज शामिल थे। सभी बदमाश दोनों राज्यों की पुलिस का सिरदर्द साबित हो रहे थे।

 

loading...
शेयर करें