इंटरनेट के मामले में भारत से दों कदम आगे निकला चीन, लेकर आ रहा 6G नेटवर्क

0

नई दिल्ली। जहां एक तरफ कुछ साल पहले हमारे लिए 3 जी नेटवर्क का प्रयोग करना बड़ी बात होती थी। वही, जियो के आने के बाद से 4 जी नेटवर्क सबके लिए आम हो गया और अब देश में हुआवे 5G टेक्नलॉजी के लिए काम कर रही है, लेकिन इसी बीच खबर आई है कि चीन ने तो अब 6G डेवेलपमेंट को लेकर भी कार्य शुरू कर दिया है।

आपको बताते चेले कि चीन की इनफॉर्मेशन टेक्नॉलॉजी मंत्रालय ने ऐलान किया है कि अब नेक्स्ट जेनेरशन मोबाइल कम्यूनिकेशन नेटवर्क 6G डेवेलपमेंट की शुरुआत की जाएगी। मौका था 13वें नेशनल पीपल कांग्रेस का, जब चीनी इंडस्ट्री एंड आईटी मंत्री मिआओ वी ने कहा है कि इंटरनेट ऑफ थिंग्स के लिए ज्यादा बेहतर और योग्य मोबाइल नेटवर्क की जरूरत है इसलिए अब 6G टेक्नॉलॉजी का डेवेलपमेंट किया जाएगा।

भविष्य में लाइफ को पूरी तरह डिजिटल बनाने के लिए तेज नेटवर्क की जरूरत होगी। ऐसे नेटवर्क की जरूरत होगी जो काफी ज्यादा डेटा तेजी से ट्रांसफर कर सकें, जिसके लिए हमे 6G नेटवर्क की आवश्यकता होगी। इस मामले में आई रिपोर्ट के मुताबिक चीनी मंत्रालय फिलहाल इंटरनेट ऑफ थिंग्स को फोकस करके 6G टेक्नोलॉजी डेवेलप करने की तैयारी में है।

आपको बता दें कि इंटरनेट ऑफ थिंग्स एक कॉन्सेप्ट है, जिसके तहत एक डिवाइस को दूसरे से कनेक्ट किया जाता है। इसके लिए मोबाइल नेटवर्क का सहारा लिया जाता है ताकि उसका परफॉर्मेंस बढ़ाया जा सके और इसमें इंसानों को ज्यादा इन्वॉल्व न होना पड़े।  इसके अलावा इंटरनेट ऑफ थिंग्स के तहत कनेक्टेड डिवाइस का कंट्रोल सेंट्रलाइज करने और आसान करने पर भी काम किया जाता है। 5G की बात करें तो इस टेक्नॉलॉजी के तहत मौजूदा स्पीड के मुकाबले 20-50 टाइम ज्यादा तेज कनेक्टिविटी मिलेगी। हुआवे भारत में भी 5G टेक्नलॉजी के लिए काम कर रही है और कंपनी ने इसके लिए भारतीय टेलीकॉम कंपनियों के साथ पार्टनर्शिप भी की है।

loading...
शेयर करें