अगले 30 सालों में दुनिया की आधी आबादी हो जाएगी बेरोजगार

0

नयी दिल्ली। आधुनिक युग में बहुत से ऐसे काम है जो मशीनों से किये जाते हैं। एडवांस टेक्नोलॉजी के चलते अब रोबोट इंसानों की जगह ले रहे हैं। इसी कड़ी में एक चौकाने वाला खुलासा हुआ है। हालिया रिसर्च में पता चला है कि दुनिया के आधे से ज्यादा लोगों की नौकरी खतरे में हैं। अगले 30 सालों में दुनिया की आबादी की आधी जनसंख्या बेरोजगार हो सकती है। उनमे से एक आप भी हो सकते हैं।

एक कंप्यूटर साइंटिस्ट की माने तो दुनिया ऐसी टेक्नोलोजी की तरफ बढ़ रही जहां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को बढ़ावा दिया जा रहा। इसका मतलब इंसानों की जगह अब मशीन ले रहे हैं। इसकी वजह से दुनिया की अर्थव्यवस्था पर बड़ा खतरा है।

विशेषज्ञ मोशे वारदी ने अमेरिकन एसोसिएशन फॉर द एडवांसमेंट ऑफ साइंस में कहा था कि आज की दुनिया उस दिशा की ओर बढ़ रही है जहां मशीनें इंसानों का हर काम करने को तैयार होंगे। ऐसे में इंसानों के पास कोई काम नहीं बचेगा। और इसका सबसे ज्यादा प्रभाव माध्यम वर्ग पर पड़ने वाला है।

इस रिसर्च में यह भी बात सामने आई है कि आर्टिफिसियल इंटेलिजेंस क्रांति का सबसे ज्यादा और जल्दी प्रभाव चीन पर पड़ने वाला है। क्योंकि चीन तकनीक के मामले में हमेशा से आगे है। इसलिए यहाँ के लोगों पर बेरोज्गति का सबे ज्यादा प्रभाव पड़ने वाला है।

यहाँ की बड़ी बड़ी कम्पनियां इंसानों को निकाल कर रोबोट को भर्ती करने वाली हैं। इन हालात में हजारों नहीं लाखों लोगों को नौकरियां जा सकती हैं। विज्ञान की तरक्की अब इनानों के लिए खतरा बनती जा रहीं हैं। लोगों की रोजी रोटी छिनती जा रही हैं।

रिसर्च की माने तो अआने वाले 25 सालों में सड़कों पर सिर्फ ऑटोमेटेड ड्राइविंग गाड़ियां ही होंगी। हर काम करने के लिए रोबोट होंगे, फिर इंसानों की जरुरत नहीं पड़ेगी। ऐसे में सोचना पड़ेगा कि ऐसे विज्ञान का क्या फायदा जब इन्सान का ही अस्तित्व खतरे में पड़ जाए

loading...
शेयर करें