श्री श्री रविशंकर की बढ़ीं मुश्किलें, लखनऊ में उनके खिलाफ FIR दर्ज

0

लखनऊ। आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर की मुश्किलें बढ़ गई हैं। अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर प्रयासरत श्री श्री के खिलाफ लखनऊ में एफआईआर दर्ज कराई गई है। यह तहरीर उनके एक विवादित बयान को लेकर दर्ज कराई गई है।

कुछ दिनों पहले उन्होंने कहा था कि अगर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नहीं हुआ तो देश में सीरिया जैसे हालात हो जाएंगे। उनके इसी बयान को लेकर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम की तरफ से पार्टी के जिलाध्यक्ष तौहीद सिद्दीकी ने गुरुवार को लखनऊ के बाजार खाला थाने में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

शिकायत में कहा गया कि श्री श्री मुसलमानों को कत्ल करने की धमकी दे रहे हैं

तौहीद सिद्दीकी की तरफ से दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार उन्होंने श्री श्री पर आरोप लगाया है कि वो इस तरीके का बयान देकर मुसलमानों को कत्ल करने की धमकी दे रहे हैं। उनका ऐसा बयान मुस्लिमों के प्रति साजिश रचना दर्शाता है।

अपने सीरिया वाले बयान को लेकर श्री श्री ने बरेली के एक कार्यक्रम में सफाई देते हुए कहा कि वह बात धमकी नहीं थी, सिर्फ सावधानी बरतने के नज़रिए से ही मैंने ऐसा कहा था। रविशंकर ने कहा कि उनके बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है। वो यहां मुस्लिम धर्मगुरुओं से मिलने आए थे।

उन्होंने मीडिया से बातचीत में सभी पक्षों से अपील की है कि इस देश के भविष्य को ऐसे चंद लोग जो संघर्ष को ही अपना अस्तित्व समझते हैं उनके हवाले मत कीजिए। रविशंकर का मानना है कि मुसलमानों को सद्भावना दिखाते हुए अयोध्या पर अपना दावा छोड़ देना चाहिए क्योंकि अयोध्या मुसलमानों की आस्था की जगह नहीं है।

उनके मुताबिक अगर कोर्ट मंदिर के पक्ष में फ़ैसला सुनाता है तो मुस्लिम हारा हुआ महसूस करेंगे। वो न्यायपालिका में अपनी यक़ीन खो सकते हैं. ऐसे में वो अतिवाद की तरफ बढ़ सकते हैं। हम शांति चाहते हैं। इस्लाम में विवादित स्थल पर इबादत की इजाज़त नहीं है। भगवान राम किसी और जगह पर पैदा नहीं हो सकते।

loading...
शेयर करें