जल निगम भर्ती घोटाले मामले में आजम खान पर कसा SIT का शिकंजा, केस चलाने की सिफारिश

0

लखनऊ। सपा के दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री आजम खान की लगातार मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। हाल ही में राजस्व विभाग द्वारा चार मामलों में केस चलाये जाने के आदेश के बाद अब एसआईटी ने जल निगम भर्ती घोटाले में उनके और तत्कालीन एमडी पीके आसुदानी पर कार्रवाई की सिफारिश कर दी है। अपनी जांच रिपोर्ट में एसआईटी ने आजम खान और आसुदानी पर मुकदमा दर्ज कराने की अनुमति मांगी है।

आजम खान

जांच के बाद तैयार रिपोर्ट में कहा गया है कि पूर्व मंत्री के खिलाफ कई सबूत पाए गए हैं। जांच टीम के मुखिया आलोक प्रसाद ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उनपर महाभियोग चलाने के लिए काफी सबूत हैं। वहीँ प्रमुख सचिव अरविन्द कुमार का कहना है कि उनके पास अभी जांच रिपोर्ट नहीं आई है। रिपोर्ट मिलने के बाद ही आगे की कार्रवाई पर निर्णय लिया जाएगा।

आपको बता दें कि सपा के शासनकाल में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खान जल निगम बोर्ड के चेयरमैन भी थे। वर्ष 2016 में नियमों को ताख पर रखते हुए 122 सहायक अभियंता, 853 अवर अभियंता, 335 नैतिक लिपिक व 32 आशुलिपिक समेत 1300 पदों पर भर्तियां की गई थीं।

इन सभी भर्तियों को लेकर वित्त विभाग से मंजूरी भी नहीं ली गई थी। सभी भर्तियां जल निगम के चेयरमैन के स्तर पर ही कर दी गईं। इसं सभी पर आजम खान के हस्ताक्षर मिले हैं। वहीँ योगी सरकार ने अनिमियतता पाते हुए सभी 122 सहायक अभियंताओं को पहले ही बर्खास्त कर चुकी है।

वहीं अभी हाल ही में मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के लिए चकरोड और ग्राम समाज की जमीन लेने के मामले में राजस्व परिषद उत्तर प्रदेश ने आजम खान के खिलाफ चार मुकदमे चलाने को मंजूरी दे दी है।

loading...
शेयर करें