दिव्यांग आदित्य के हौसले को सलाम, JEE मेंस में नेशनल लेवल पर हासिल की 95वीं रैंक

0

नई टिहरी। आदित्य नौटियाल ने दिव्यांगता को मात देकर एक नई मिसाल कायम की है। जाखणीधार ब्लाक के ढुंगमंदार पट्टी के एक छोटे से गांव से ताल्लुक रखने वाले आदित्य ने न सिर्फ जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम यानी JEE की परीक्षा पास कर उत्तराखंड में दूसरा स्थान हासिल किया बल्कि नेशनल लेवल पर भी उन्होंने 95 रैंक हासिल कर अपने राज्य का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है।

JEE मेंस

JEE मेंस में राज्य का नाम भी किया रोशन

साल 2006 में एक बस हादसे के दौरान आदित्य का एक पैर बस के नीचे आ गया था जिसके कारण उसका एक पैर कमजोर हो गया लेकिन आदित्य ने इसके बाद भी हार नहीं मानी और कुछ बेहतर करने की ठानी। आदित्य के पिता भगवती प्रसाद नौटियाल के अनुसार, आदित्य का पढ़ाई में काफी मन लगता है।

उन्होंने बताया कि आदित्य शुरू से ही एक होशियार बच्चा रहा है। अपने साथ हुए हादसे के बाद भी उसने हार नहीं मानी और खूब महनत की जिसका फल उसको अब मिला है। आदित्य ने अपनी 12वीं तक की पढ़ाई अपने गांव के पास स्थित स्कूल से की है। उसने 2016 में अपनी इंटर की परीक्षा पास की है।

इंटर पास करने के बाद आदित्य ने देहरादून के आकाश इंस्टीट्यूट में कोचिंग लेकर JEE की परीक्षा में देशभर में 95 रैंक और उत्तराखंड में दूसरी रैंक हासिल की है।

loading...
शेयर करें