JNU : उपस्थिति अनिवार्य पर लगातार विरोध से यूनिवर्सिटी ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

0

नई दिल्‍ली। जवाहर नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में जब से उपस्थिति को अनिवार्य कर दिया गया है उसके बाद से लगातार छात्रसंघ और यूनिवर्सिटी प्रबंधन के बीच गरमागर्मी का माहौल है। इसके चलते कुलपति कार्यालय के बाहर छात्रसंघ ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। ऐसे में बढ़ते हंगामे को देखते हुए प्रबंधन ने चार छात्रों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

JNU

बता दें, यूनिवर्सिटी में जब से यह नई पॉलिसी लागू की गई है तब से इसका विरोध किया जा रहा है। वहीं जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष गीता कुमारी ने बताया कि कुलपति कार्यालय के बाहर 4 जनवरी को विरोध प्रदर्शन किया गया था। यह प्रदर्शन छात्रसंघ के सदस्य कुलपति प्रो. एम जगदीश कुमार से मिलने के लिए था। लेकिन उन्‍हें मिलने नहीं दिया गया।

ऐसे में छात्रसंघ ने सवाल उठाते हुए पूछा कि एक्जीक्यूटिव काउंसिल की बैठक में उपस्थिति को लेकर कोई प्रस्ताव नहीं आया था। लेकिन कुलपति ने अपनी मर्जी से इस प्रस्‍ताव को पारित कर दिया था। वहीं यूनिवर्सिटी में छात्रों की अनिवार्यता को जबरदस्‍ती उनपर थोपा गया है जिसका विरोध सिर्फ छात्रसंघ ही नहीं बल्कि अन्‍य छात्र भी कर रहे हैं।

उन्‍होंने बताया कि जब हमने इसके खिलाफ आवाज उठाई तो हमारे ऊपर कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया। यूनिवर्सिटी प्रबंधन की तरफ से यह नोटिस जेएनयू छात्रसंघ को भेजा गया है। वहीं 25 सौ छात्रों ने हस्ताक्षर करके इसके खिलाफ विरोध जताया है। इसके साथ-साथ छात्रों ने रजिस्टर में लगने वाल हाजिरी का विरोध करना भी शुरू कर दिया है।

loading...
शेयर करें