JNU के छात्रों ने नहीं किया गुरु का सम्मान, तीन घंटे तक बंधक बनाकर डीन को पीटा

0

नई दिल्ली। राजधानी नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से आए दिन कोई न कोई विवाद सामने आते रहता है। कई छात्रसंघ चुनाव को लेकर तो कभी देशविरोधी नारों के लिए। एक बार फिर जेएनयू चर्चा में बना हुआ है। यहां प्रशासन और छात्रसंघ के बीच टकराव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जेएनयू के डीन ऑफ स्टूडेंट उमेश कदम के साथ छात्रसंघ के पदाधिकारियों द्वारा बदसुलूकी व धक्का-मुक्की करने का मामला सामने आया है।

मामले में चीफ सिक्योरिटी ऑफिसर ने पुलिस में शिकायत दे दी है

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय कैंपस में सोमवार को पौने तीन घंटे तक डीन ऑफ स्टूडेंट्स प्रो. उमेश कदम को बंधक बनाकर मारपीट की। इसके चलते उक्त अधिकारी को मानसिक आघात पहुंचा, हाथ में भी चोट लगी। इस मामले में चीफ सिक्योरिटी ऑफिसर ने पुलिस में शिकायत दे दी है, जबकि विश्वविद्यालय ने कमेटी गठित कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

छात्रों को हटाने की कोशिश की तो उनके साथ भी हाथापाई की गई

उमेश कदम ने शिकायत में कहा है कि सोमवार को छात्रसंघ के पदाधिकारियों ने उनसे मिलकर किसी जरूरी मसले पर बात करने के लिए समय मागा था। उन्होंने समय दे दिया। दोपहर में कुछ पदाधिकारी व छात्र उनसे मिलने कार्यालय में आए। बातचीत के दौरान छात्र उग्र हो गए और उनके साथ गाली-गलौच व बदसुलूकी की। निजी सुरक्षा गार्डों ने जब छात्रों को हटाने की कोशिश की तो उनके साथ भी हाथापाई की गई।

जारी किया सीसीटीवी फुटेज

गौरतलब है कि इससे पहले भी तीन बार छात्रों ने अपनी मांगें मनवाने के लिए कुलपति से लेकर अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को बंधक बनाकर मारपीट की है। जेएनयू प्रशासन ने उक्त मामले में सीसीटीवी फुटेज भी जारी किया है, जिसमें सभी की तस्वीरें कैद हैं। प्रशासन ने मामले से संबंधित फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर भी अपलोड किए हैं। वहीं छात्रसंघ ने प्रशासन के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि हम शातिपूर्ण तरीके से अपनी बात रखने गए थे। वहां हमारी बात नहीं सुनी गई।

loading...
शेयर करें