कल्बे सादिक बोले, अयोध्या में राममंदिर नहीं विद्या मंदिर बने

0

लखनऊ। इन दिनों अयोध्या राम जन्मभूमि बावरी मस्जिद का मामला गरमाया हुआ है। हर कोई इस मुद्दे पर अपनी राय रख रहा है। इसी कड़ी में वरिष्ठ शिया धर्मगुरु और अल्ला इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) के उपाध्यक्ष मौलाना कल्बे सादिक का कहना है कि अयोध्या में राम मंदिर की जगह विद्यामंदिर का निर्माण होना चाहिए।     कल्बे सादिक

राम मंदिर मामले में अपनी बात रखते हुए कल्बे सादिक ने कहा कि मंदिर जरुर बने। लेकिन इस बयान को बड़े डिप्लोमेटिक तरीके आगे बढाते हुए कहा कि मंदिर न बने विद्यामंदिर बने। वहीँ इससे पहले उन्होंने एआईएमपीएलबी के सदस्य सलमान नदवी की आर्ट ऑफ़ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर से मुलाकात के बाद बाबरी मस्जिद को कहीं और ले जाने वाले सुझान पर कुछ भी कहने से मना कर दिया।

उल्लेखनीय है कि श्रीश्री से मुलाकात के बाद नदवी ने राम मंदिर पर सुझाव दिया था। उन्होंने कहा था कि बाबरी  मस्जिद को कहीं और शिफ्ट करके इस मसले को सुलझाया जा सकता है। नदवी के इस बयान के बाद बोर्ड ने उन्हें बर्खास्त कर दिया।

बाराबंकी में न्यूज़18 से बातचीत में सादिक ने कहा कि मेरी राय में अयोध्या में बिद्यामंदिर का निर्माण होना चाहिए। अब अब तक राम मंदिर का मुद्दा सुलझ जाना चाहिए था। लेकिन यह तभी सुलझेगा जब लोग चाहेंगे।

हालांकि सादिक ने कहा कि मुस्लिमों को ईसाईयों से सिखने की जरुरत है। जहां कहीं भी चर्च होता है वहां स्कूल जरुर होते हैं। आपने कितनी मस्जिदें देखी हैं जहां स्कूल है? स्कूल का मतलब आधुनिक शिक्षण संस्थान से है। आज धार्मिक और आधुनिक शिक्षा समय की मांग है। मुस्लिमों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि मस्जिद के सात आधुनिक शिक्षण संस्थान का भी निर्माण ही। इसका स्वागत हिंदू भी करेंगे।”

कल्बे सादिक ने कहा कि मुझे मेरे हिंदू भाइयों से हमेश प्यार और स्नेह मिला। जबकि मुस्लिमों ने हमेशा दिक्कतें पैदा की।

loading...
शेयर करें