‘पद्मावत’ का विरोध कर रहे करणी सेना का यूपी प्रमुख कर्ण सिंह गिरफ्तार

0

लखनऊ। संजय लीला भंसाली की पद्मावत आखिरकार रिलीज हो गई। लेकिन उसका विरोध अभी भी जारी है। वहीँ पुलिस ने उत्तर प्रदेश करणी सेना के प्रमुख कर्ण सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। कर्ण सिंह को ग्रेटर नोएडा से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने कर्ण को उस वक़्त गिरफ्तार किया जब वो फिल्म के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। कर्ण को जेल भेज दिया गया है। उधर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने कहा कि अब तक पूरे प्रदेश में कुल 26 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट में कोर्ट की अवमानना को लेकर करणी सेना के तीन लोगों के खिलाफ याचिका दायर की गई है। इसमें करणी सेना के संस्‍थापक लोकेंद्र कालवी के साथ ही कर्ण सिंह भी शामिल हैं। आपको बता दें कि आज यूपी में कई जिलों पद्मावत रिलीज हो चुकी है।

राजधानी लखनऊ में जहां करणी सेना के सदस्यों ने फिल्म देखने गए लोगों को फूल देकर उनसे फिल्म न देखने की मांग की।  वहीँ सीतापुर में सिनेमा हॉल मालिक की कार पर करणी सेना ने हमला किया। मिली जानकारी के मुताबिक, एससीएम सिनेमा हॉल मालिक संजय अग्रवाल पर हमला किया गया। हमले में संजय अग्रवाल की बीएमडब्लू कार के शीशे तोड़ दिए गए।

इस बारे में जानकारी देते हुए संजय अग्रवाल ने बताया कि वह मॉल पहुंचने वाले थे तभी कुछ लोगों ने उनपर हमला कर दिया। उनकी गाड़ी पर पत्थर फेंके गए। इससे उनकी कार के शीशे टूट गए। घटना में संजय अग्रवाल को हल्की चोटें भी आई हैं। मामला खैराबाद थाना क्षेत्र के सराय मलुही का है।

लिस महानिदेशक कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने गुरुवार को कहा कि पद्मावत के विरोध में कानून व्यवस्था को हाथ में लेने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जिसमे गोमती नगर का वेब सिनेमा में फिल्म की स्क्रीनिंग नहीं की जा रही है। वेब सिनेमा के बाहर तो इस संबंध में नोटिस चस्पा किया गया है। हालांकि सूबे कई शहरों के सिनेमाघरों, मॉल और मल्टीप्लेक्सों में भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात कर फिल्म के फर्स्ट शो की बुकिंग शुरू हुई है। गनीमत की बात तो ये है कि प्रदेश में अभी तक किसी अप्रिय घटना की जानकारी नहीं मिली है।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को क्षत्रिय समाज और करणी सेना के लोगों ने मॉल के बाहर प्रदर्शन कर फिल्म न रिलीज़ करने की चेतावनी दी थी। लेकिन इसके बाद भी पीवीआर में फिल्म को देखने वालों की भीड़ लगी हुयी है। सिंगल स्क्रीन थिएटर में फिल्म का प्रदर्शन किया जा रहा है।

वहीँ वाराणसी में भी फिल्म को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं। यहां विरोध को देखते हुए फिल्म कम लोग देखने जा रहे हैं। वाराणसी में सुबह-सुबह ही पुलिस के जवान सिनेमा हॉल पर तैनात हो गए थे, क्योंकि कुछ क्षत्रिय संगठन ने फ़िल्म दिखाने पर हमले की धमकी दी थी। इसलिए पुलिस के लिए यह चुनौती भी है कि कही कोई अप्रिय घटना न घटे।

हालांकि वाराणसी के किसी सिनेमा हॉल पर पद्मावत का पोस्टर नही लगाया गया है और न ही टिकट की ऑनलाइन बुकिंग शुरू की गई है। चंदौली में भी सुरक्षा की व्यवस्था की गयी है। बरेली में भी फिल्म का विरोध प्रदर्शन जारी है।  अन्य शहरों में फिल्म को लेकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है।

loading...
शेयर करें