केरल लव जिहाद : बेटी से महिला आयोग को मिलने से पिता ने रोका, 27 को पेश होंगे कोर्ट में  

0

केरल। अखिला हुई हादिया से जब महिला आयोग की टीम मिलने पहुंची तो उनके पिता पिता ने मना कर दिया। जिसके बाद महिला आयोग ने पुलिस की सहायता ली, और कहा कि वह उसके पिता से मिलकर बताये की उन्‍होनें मिलने से क्‍यों मना कर दिया है। वहीं बता दें कि हादिया बनने से पहले उन्‍होंने एक मुस्‍लिम युवक से शादी किया है। इस शादी के खिलाफ अखिला के पिता से शुरु से रहे है। उनका कहाना है कि बेटी को झांसे में रखकर उसका धर्म बदलकर शादी किया, और वह उसे शीरिया ले जाने वाला है। वहीं इसके खिलाफ हादिया के पति ने कोर्ट में याचिका दायर किया था, जिसकी सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में 27 नवंबर को है।

इस दिन पेश होकर हदिया सुप्रीम कोर्ट में गवाही देंगी की उसकी शादी शफीन जहां से उसके मर्जी के मुताबिक हुई या नहीं। सूत्रों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणी मुस्लिम युवक की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा है। युवक ने केरल हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी। हाई कोर्ट के फैसले में युवक की शादी को कोर्ट ने रद्द कर दिया था, और जांच कराने की बात कही थी।

यह भी पढ़़े़े़े- नोटबंदी-जीएसटी को फिर फूटा यशवंत सिन्हा का गुस्सा, कहा- जनता जेटली से मांग सकती है इस्तीफा
गौरतलब है कि केरल हाई कोर्ट ने युवक के हिंदू युवती के साथ विवाह को लव जिहाद मानते हुए रद्द कर दिया था। 24 वर्षीय हादिया शेफिन का जन्‍म हिंदू परिवार में हुआ था, जिनका नाम अखिला अशोकन था। अखिला ने परिवार के मर्जी के खिलाफ जाकर मुस्‍लिम युवक से शादी किया था। वहीं जिस युवक से हादिया ने विवाह किया है उसका कहना है कि उसने आपसी सहमती से यह विवाह किया है।

loading...
शेयर करें

आपकी राय