फायदों के साथ-साथ सेहत के लिए बेहद खतरनाक है नींबू पानी

0

नई दिल्ली। वजन कम करने के लिए बहुत से लोग सुबह-सुबह उठाकर नींबू पानी पीते हैं। हम हमेशा सुनते और पढ़ते यही आये हैं कि इससे कई सारे फायदे होते हैं साथ ही जल्दी से वजन घटता है लेकिन क्या आपको पता है इसके कई सारे साइड इफेक्ट्स भी होते हैं।

नींबू पानी

नींबू में विटामिन सी, विटामिन सी 6, कैल्शियम, फस्पोरसआदि की प्रचुरता पायी जाती है। नींबू में विटामिन सी का अच्छा श्रोत माना जाता है जो हमारे शरीर के लिए बेहद आवश्यक होता है। लेकिन ये तो सबको पता होता है कि कोई भी चीज की मात्र अगर लिमिट से ज्यादा हो जाए तो वो हानिकारक होती है। इसी तरह नींबू पानी का भी जरूरत से ज्‍यादा सेवन खतरे से खाली नहीं।

नींबू एसिडिक फ्रूट है, इसके ज्यादा सेवन से सीने में जलन हो सकती है। अगर आपको एसिड रिफ्लक्स (अम्ल प्रतिवाह) की समस्या है तो नींबू पानी पीने से बचें। इतना ही नहीं नींबू एसिड दांतों को भी नुकसान पहुंचाता है। इससे दांत की ऊपरी परत को नुकसान पहुँचता है।

इससे सेंसिटिविटी और कैविटी कि समस्या बढती है। बॉडी में मौजूद नैचरल शुगर लेवल में कमी आती और दांत खराब होने लगते हैं। इससे पेट में क्रैम्प्स पड़ सकते हैं या मिचली आने की समस्या हो सकती है। ज्‍यादा नींबू पानी पीने से शरीर में सिट्रिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे पैरों के अंगूठों और तलवों में दर्द हो सकता है।

नींबू के रस की वजह से बार-बार यूरिनेशन के लिए जाना पड़ सकता है। इतना ही नहीं इससे डीहाइड्रेशन का भी खतरा बढ़ जाता है।  लोग अपना खाना पचाने के लिए नींबू पानी का इस्तेमाल करते हैं जिसकी वजह से पेट में ज्यादा एसिड हो जाता है और पेट खराब हो जाता है।

सबसे ज्यादा प्रभाव किडनी पर पड़ता है। नींबू में एसिड के अलावा ऑक्सलेट भी होता है, जो शरीर में जाकर क्रिस्टल में तब्‍दील हो सकता। कभी कभी इसी क्रिस्टल की मात्र बढ़ जाती है जिसकी वजह से किडनी स्टोन और गॉलस्टोन का रूप ले लेता है।

loading...
शेयर करें