बर्तन खोलेंगे आपकी बंद किस्मत का ताला, जानिए कैसे

0

नई दिल्ली। बर्तन का इस्तेमाल हम सभी खाना खाने के लिए करते हैं। शास्त्रों के अनुसार इन बर्तनों में आपकी किस्मत का रहस्य छिपा हुआ है। इसके अलावा किस धातु के बनें बर्तनों में भोजन करने से आपकी सेहत पर क्या प्रभाव पड़ता है, इसका खुलासा भी शास्त्रों में किया गया है। आज हम आपको बताते हैं कि यह बर्तन किस तरह से आपकी सेहत व किस्मत पर प्रभाव डालते हैं।

जानिए बर्तनों से होने वाले प्रभावों के बारे में

एल्युमिनियम या प्लास्टिक जैसे बर्तनों में भोजन पकाना या ग्रहण करना कभी भी हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं रहा। इन बर्तनों में भोजन करने से सेहत पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। साथ ही इन बर्तनों में खाना भाग्य के लिए भी ठीक नहीं है।

अगर बात की जाए एल्युमिनियम के बर्तनों के इतिहास की तो इनका चलन हमारे देश में अंग्रेजों ने शुरु किया था। वो जेल में बंद क्रांतिकारियों के लिए इन्हीं बर्तनों में खाना बनवाते थे व उन्हें इसी धातु के बर्तनों में खाने के लिए दिया भी जाता था। वो ऐसा इसलिए करते थे ताकि उनकी मृत्यु जल्दी हो जाए।

वैज्ञानिक कारण के अनुसार एल्युमिनियम एक ऐसी धातु है जिसके कण धीरे-धीरे निकलते रहते हैं। ये कण खाना बनाने के दौरान या खाते समय भोजन में मिल जाते हैं। जोकि तमाम तरह की बीमारियों को जन्म देते हैं। अधिक समय तक इस धातु के बर्तनों में भोजन करने से व्यक्ति तमाम बीमारियों से ग्रसित हो जाता है।

आयुर्वेद के अनुसार, लोहे के बर्तनों में भोजन करने से शरीर में कोई हानिकारक प्रभाव नहीं पड़ता। साथ ही इससे शरीर में लौह तत्वों की मात्रा बढ़ती है। इससे हिमोग्लोबिन का स्तर ठीक रहता है व पाचन संबंधी दिक्कतें खत्म हो जाती हैं। इन बर्तनों का दान करने से किस्मत चमक सकती है।

loading...
शेयर करें