बुधवार को घर से मेला देखने निकला था प्रेमी युगल, अगले दिन लाश मिलने से मचा हाहाकार

0

किशनगंज| प्यार इंसान को इस कदर अंधा कर देता है कि उसके लिए सही-गलत की पहचान करना काफी मुश्किल हो जाता है। इस बात की बानगी भरती है है बिहार में घटित वह घटना जिसमें एक प्रेमी जोड़े ने प्यार को अमर करने के लिए जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। यह घटना बिहार के किशनगंज जिले के पोठिया थाना क्षेत्र में घटी।

इस बारे में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि जलालपुर गांव निवासी नरेश प्रसाद सिंह के 19 वर्षीय बेटे राहुल प्रसाद सिंह का उसी गांव की दीपिका कुमारी (16) से काफी समय से प्रेम संबंध था। दोनों बुधवार को मांझीपुर क्षेत्र में माघी पूर्णिमा मेला देखने गए थे।

प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को बताया कि कि दोनों को बुधवार शाम तक मेले में देखा गया। गुरुवार शाम को दोनों का शव पुनपुन गांव के पास खेत से बरामद किया गया।

पोठिया के थाना प्रभारी सुभाष मंडल ने शुक्रवार को बताया कि प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का मालूम पड़ रहा है। घटना स्थल से आधा लीटर कीटनाशक दवा की बोतल बरामद की गई है।

उन्होंने बताया कि इस मामले में पोठिया थाना में आत्महत्या की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है तथा पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। उन्होंने संदेह जताते हुए कहा कि दोनों ने विवाह कर लिया था क्योंकि लड़की की मांग में सिंदूर लगा हुआ था।

मृतक के परिजनों का कहना है कि लड़की ट्यूशन पढ़ने और लड़का मेला घूमने कहकर घर से निकला था। दोनों रात तक जब घर नहीं लौटे तो उनकी खोज शुरू की गई। गुरुवार को दोनों का शव बरामद किया गया।

loading...
शेयर करें