भारत बंद की आग में जले मध्य प्रदेश में कर्फ्यू में ढील, 8 लोगों की हुई थी मौत

0

भोपाल। SC और ST कानून को नरम करने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ सोमवार को भारत बंद के दौरान मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग के जिलों में भड़की हिंसा के बाद अब हालात सुधरने लगे हैं। यही कारण है कि बुधवार को कर्फ्यू में ढील दी गई। पुलिस ने बताया, ग्वालियर शहर में तीन और डबरा कस्बे में लगे कर्फ्यू में दो घंटे की ढील दी गई।

कर्फ्यू में ढील

लोगों ने अपनी जरूरत के सामान की खरीदारी की

कर्फ्यू में ढील के दौरान लोगों ने अपनी जरूरत के सामान की खरीदारी की। ग्वालियर में हुई हिंसा में कुल तीन लोग मारे गए हैं। पुलिस ने 500 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर 20 को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बड़ी संख्या में लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने बताया है कि भिंड व मुरैना के कर्फ्यू ग्रस्त क्षेत्रों में एक घंटे के लिए 10 से 11 बजे तक की ढील दी गई।

75 लोगों को हिरासत में लिया गया है

स्थितियां नियंत्रण में है। 75 लोगों को हिरासत में लिया गया है। कुल 35 प्रकरण दर्ज किए गए हैं। हालात धीरे-धीरे सामान्य हो चले हैं। ज्ञात हो कि, भारत बंद के दौरान राज्य के ग्वालियर-चंबल इलाके में ही सबसे ज्यादा हिंसा हुई थी। उसके चलते कर्फ्यू लगाने के हालात बने। इस हिंसा में आठ लोगों की मौत हुई है। इनमें से तीन ग्वालियर, चार भिंड और एक मुरैना से हैं। सुारक्षा के मद्देनजर कानून व्यवस्था की स्थिति को देखते हुए अतिरिक्त बल को प्रभावित जिलों में तैनात किया गया है।

मध्य प्रदेश में हिंसा में 8 लोगों की मौत हुई थी

बता दें भारत बंद के दौरान मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग के जिलों में भड़की हिंसा में 8 लोगों की मौत हो गई थी। मंगलवार को भिंड जिले में एक युवक का शव मिला था। ग्वालियर में कई उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया था। पुलिस सूत्रों के अनुसार, ग्वालियर में तीन, भिंड में चार और मुरैना में एक व्यक्ति की मौत हुई थी। इसके अलावा 153 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। घायलों में 54 पुलिस के जवान भी शामिल थे।

loading...
शेयर करें