शुरु हो चुका है मलमास, भूलकर भी न करें ये काम

0

नई दिल्ली। हिंदू धर्म के अनुसार आज से मलमास का माह शुरु हो रहा है। यह 16 मई से 13 जून तक चलेगा। इसे अधिकमास या फिर पुरुषोत्तम मास के नाम से भी जाना जाता है। इससे जुड़ी हुई कई धार्मिक कथाएं प्रचलित हैं। ऐसा माना जाता है कि इन दिनों में कोई भी शुभ कार्यों की शुरुआत नहीं करनी चाहिए। ऐसा करने पर व्यक्ति को उनके शुभ फल प्राप्त नहीं होते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि इन दिनों में क्या-क्या काम नहीं करने चाहिए।

जानिए क्या न करें
मलमास के दौरान विवाह, मुंडन, नव वधू प्रवेश, यज्ञोपवीत संस्कार, नया वाहन खरीदना, बच्चे का नामकरण संस्कार जैसे शुभ काम अधिकमास के दौरान नहीं किये जा सकते। हालांकि, जो काम पहले ही शुरू किए जा चुके हैं, उन्हें किया जा सकता है। मृत व्यक्ति का प्रथम श्राद्ध किया जा सकता है। इसके अलावा रोग आदि की निवृत्ति के लिए महामृत्युंजय, रूद्र जप जैसे अनुष्ठान किए जा सकते हैं।

अधिकमास के दौरान सभी पवित्र कर्म वर्जित माने गए हैं। माना जाता है कि अतिरिक्त होने के कारण यह मास मलिन होता है। मलिन मानने के कारण ही इसे मलमास भी कहा जाता है। इसके अलावा इसे पुरुषोत्तम मास भी कहा जाता है। अधिकमास के अधिपति स्वामी भगवान विष्णु माने जाते हैं।

loading...
शेयर करें