मनी लॉन्ड्रिंग केस : लालू की बेटी व दामाद को बड़ी राहत, कोर्ट ने दी जमानत

0

नई दिल्ली। लगभग 8 हजार करोड़ रुपए के बहुचर्चित मनी लॉन्ड्रिंग केस में लालू की बेटी व दामाद को कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती व उनके दामाद शैलेश यादव को आज पटियाला हाउस कोर्ट ने सशर्त जमानत दी। जमानत के तौर पर दोनों को दो-दो लाख रुपए की राशि मुचलके के तौर पर भरनी होगी। इसके अलावा कोर्ट की इजाजत के बिना दोनों देश छोड़कर भी नहीं जा सकते हैं।

मीसा भारती ने खुद को बताया निर्दोष

इससे पहले मीसा भारती ने खुद को इस मामले में निर्दोष बताया था। उनका कहना है कि मनी लांड्रिंग के लिए जांच दायरे में आई कंपनी को उनके पति और एक सीए चला रहा था। मीसा भारती के मुताबिक कंपनी संबंधित जो भी कामकाज है वह उनके पति और मृत सीए देखते थे, इसलिए उनके पास इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। वहीं ईडी का कहना है कि मुखौटा कंपनियों के जरिए मनी लांड्रिंग के षडयंत्र में यह दंपत्ति सक्रिय रूप से शामिल था।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक यह शेल कंपनियां हवाला कारोबारी जैन बंधुओं और संतोष कुमार शाह की है। इस मामले में 20 मार्च 2017 को ईडी ने जैन बंधुओं को गिरफ्तार किया था।

ईडी के आरोप पत्र के अनुसार इस मामले में जांच के दौरान ईडी ने अब तक 67.02 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है। इससे पहले ईडी ने आरजेडी प्रमुख की बेटी मीसा भारती के फॉर्म हाउस को जब्त कर लिया था, और शेष को जब्त करने की प्रक्रिया जारी है। ईडी ने कोर्ट के आदेश पर यह कार्रवाई की।

सूत्रों के अनुसार पटियाला हाउस कोर्ट ने नोटिस जारी कर मनी लांड्रिंग के मामले में मीसा भारती तथा उनके पति शैलेश यादव को उपस्थित होने का आदेश दिया था। आदेश का उल्लंघन करने पर मीसा को कार्रवाई का समाना करना पड़ता।

loading...
शेयर करें