अब मुलायम ने अखिलेश को दी चेतावनी, कहा-नहीं माने तो करना पड़ेगा फैसला

0

लखनऊ। विधानसभा चुनाव के पहले से चली आरही समाजवादी पार्टी की तकरार ख़त्म होने का नाम नहीं ले रही। उम्मीद थी कि दो गुटों में बंट चुका मुलायम का कुनबा एक बार फिर इकट्ठा हो सकता है लेकिन आये दिन बयानबाजियों से रिश्तों में तल्खियां बढ़ती जा रहीं हैं। इसी कड़ी में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने एक बार फिर अपने बेटे और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को चेतावनी दी है।

गाजियाबाद में पूर्व एमएलसी आशु मलिक के घर एक निजी कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे मुलायम सिंह यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं गठबंधन के पक्ष में नहीं हूं।  अगर रामगोपाल और अखिलेश किसी से भी गठबंधन करेंगे तो मुझे कोई और फैसला लेना पड़ेगा।  आगे मुलायम ने कहा कि अपने दम पर विधानसभा चुनाव लड़कर सरकार बनाई, लेकिन गठबंधन किया तो हार गए।

मुलायम ने यह बयान आगामी 27 अगस्त को पटना में होने वाली रैली के सवाल पर दिया। इस रैली में अखिलेश यादव भी शिरकत करने वाले हैं। अखिलेश यादव भाजपा के खिलाफ इस रैली का हिस्सा बनने वाले हैं।

कई बार उन्होंने ऐलान भी किया है कि भाजपा का अस्तित्व ख़त्म करने के लिए वो किसी के साथ भी समझौता कर सकते हैं। अखिलेश मायावती के साथ भी जाने को तैयार हैं लेकिन मायावती ने अभी तक इस बारे में अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

वहीँ मायावती ने इस रैली से भी अपना किनारा कर लिया है। अखिलेश के इस गठबंधन एक फैसले से मुलायम खासा नाराज हैं। वो कांग्रेस के साथ भी गठबंधन नहीं चाहते थे।

मुलायम ने प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर मुलायम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा। उन्होंने उन्होंने कहा कि पांच माह में अपराध बढ़े हैं जिसके लिए सरकार दोषी है। अपराध पर लगाम लगाने में सरकार नाकाम साबित हो रही है। तीन तलाक के मुडी पर बोलते हुए उन्होंने लाहा कि वो कोर्ट के फैसले को ख़ुशी-ख़ुशी स्वीकार करते हैं।

 

 

loading...
शेयर करें

आपकी राय