मिसाल : गुजरात में मुसलमान भक्त ने बनवाया हनुमान मंदिर

0

नई दिल्ली। जहां कुछ लोग एक-दूसरे के धर्म को श्रेष्ठ बताते हुए अन्य धर्म की आलोचना करते हैं। वहीं, गुजरात से एक दिल को सुकून देने वाली खबर आ रही है। यहां के अहमदाबाद में एक मुस्लिम शखस मोइन मेमन ने जर्जर हो चुके एक हनुमान मंदिर के जीर्णोद्धार करने का जिम्मा उठाया है। 500 साल पुराना यह मंदिर जीर्ण-शीर्ण अवस्था में था। इलाके के लोग भी इस मंदिर का जीर्णोद्धार कराने की मांग कर रहे थे।

मोइन मेमन की ये कोशिश हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिसाल है। मंदिर बिल्कुल जर्जर हालत में पहुंच चुका था लेकिन इस पर ध्यान देने वाला कोई नहीं था। उन्होंने न केवल मंदिर का पुननिर्माण कराया बल्कि उसकी कायाकल्प ही बदल दिया। मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखने के बावजूद मोईन इस मंदिर की जर्जर हालत को देखकर बहुत दुखी हुए और सिर्फ दो हफ्तों में ही इस मंदिर की सूरत बदलने में जुट गए।

इसे लेकर मोइन से सवाल पूछा गया कि उनका मकसद क्या है। इस पर उन्होंने जवाब दिया, राजनीति वाले तो जब तक हिंदू-मुस्लिम नहीं करवाएंगे तब तक उनकी रोटी नहीं सिंकेगी। अगर सब हिंदू-मुस्लिम भाई एकजुट हो गए, तो राजनीति वाले कुछ नहीं कर सकेंगे और देश में सुकून-शांति रहेगी।

मोइन ने आगे बताया कि उनका बचपन मंदिर को देखते हुए बीता है लेकिन अब उसी मंदिर की जर्जर हालत उन्हें तकलीफ पहुंचा रही थी इसीलिए उन्होंने मंदिर के पुजारी के सामने इसके पुनर्निर्माण का प्रस्ताव रखा जिसे पुजारी ने मान लिया।

loading...
शेयर करें