नासा ने खोजा आकाशगंगा के बाहर हजारों ग्रहों का झुंड

0

हाल ही में नासा के वैज्ञानिकों ने हमारी आकाशगंगा से बाहर पुख्ता तौर पर ग्रहों के मिलने की पुष्टी की है। वैज्ञानिकों द्वारा खोजे गए इन ग्रहों का समूह पृथ्वी से 3.8 अरब प्रकाशवर्ष दूर है। इन ग्रहों को अंतरिक्ष में स्थित नासा की एक्स-रे लेबोरेटरी से मिले डाटा के आधार पर खोजा गया। इससे पहले भी वैज्ञानिक तारा मंडल के बाहर प्लैनेट होने को लेकर कई तरह की जानकारियां देते रहे हैं।

ग्रहों का समूह

बता दें कि आकाश गंगा से बाहर मिले ये ग्रह आकार में चांद और सबसे बड़े जुपिटर प्लैनेट (बृहस्पति गृह) के जैसे ही हैं। अंतरिक्ष वैज्ञानिक शिन्यू दाई ने बताया कि अब तक ऐसे टेलीस्कोप का निर्माण नहीं हुआ है जो इतनी दूर पर मौजूद ग्रहों को ढूंढ पाए। वैज्ञानिकों का कहना है कि आकाश गंगा के बाहर मिले ग्रहों की इस समूह में हर सितारे के लगभग 2000 अपने प्लैनेट हो सकते हैं। यानि ये करीब अरबों ग्रहों का झुंड हो सकता है।

इन ग्रहों को ढूंढने के लिए अलबर्ट आइंस्टीन के सिद्धांत ‘थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी’ की मदद ली गई। इस थ्योरी के अनुसार ग्रहों की रोशनी अंतरिक्ष में तैरते वक्त गुरुत्वाकर्षण के कारण मुड़ जाती है। इसी का इस्तेमाल करके नासा की प्रयोगशाला ने आकाश गंगा के बाहर इन ग्रहों का पता लगाया।

अमेरिका के ओकलाहोमा यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं ने एक्स्ट्रागैलेटिक आकाशगंगाओं में वस्तुओं का पता लगाने के लिए माइक्रोलेंसिंग का इस्तेमाल किया। माइक्रोलेंसिंग एक खगोलीय चीज है, जिसका इस्तेमाल ग्रहों का पता लगाने के लिए किया जाता है। बता दें कि अभी तक हमारे सौर मंडल के बाहर करीब 3500 ग्रहों की खोजी जा चुकी हैं।

loading...
शेयर करें