कई शर्तों के साथ NGT ने सम-विषम योजना को दी हरी झंडी, केजरीवाल सरकार को लगाई फटकार

0

नई दिल्ली। राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने आज वाहनों की सम-विषम योजना को लेकर फैसला सुना दिया है। एनजीटी ने कई शर्तों के साथ सम-विषम योजना को हरी झंडी दिखा दी है।ट्राइब्यूनल ने अपने फैसले में इस बार किसी को भी इस योजना के तहत छूट नहीं दी है। इस स्कीम में टू-वीलर्स, महिलाओं और सरकारी कर्मचारियों को छूट नहीं दी गई है। लेकिन ऐंबुलेंस और इमरजेंसी सर्विसेज के लिए छूट रहेगी।

ट्राइब्यूनल ने फैसले में कहा कि भविष्य में भी 48 घंटे के ऑब्जर्वेशन के दौरान PM 10 का स्तर 300 से ज्यादा हो या PM 2.5 का स्तर 500 से ज्यादा हो, तब ऑड-ईवन लागू किया जाना चाहिए। साथ ही कोर्ट ने कहा कि अनुमान के अनुसार 48 घंटे तक बारिश नहीं होती है तो किसी माध्यम से पानी का छिड़काव भी कराना होगा। एनजीटी ने ट्रैफिक पुलिस को शहर में ये सुनिश्चित करने को कहा है कि सड़कों पर डीजल की 10 साल से ज्यादा पुरानी गाड़ियां और पेट्रोल की 15 साल से ज्यादा पुरानी गाड़ियां इस्तेमाल न हो रही हों।

इससे पहले एनजीटी ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाते हुए कहा, ऑड-ईवन पर जल्दबाजी क्यों? क्या ऑड-ईवन पर LG की मंजूरी ली? आप वो आदेश दिखाइए जिसमे आपने ऑड-ईवन लागू करने का फैसला लिया।  एनजीटी ने पूछा है कि आपने कौन सी स्टडी के मुताबिक, ऑड-ईवन लागू किया है। दिल्ली सरकार ने कहा कि वह ईपीसीए के सुझावों को मान रहे हैं। एनजीटी ने दिल्‍ली सरकार को कहा, भगवान मदद कर रहे हैं आपकी स्थिति आपने आप सुधर रही है। एनजीटी ने कहा कि ये बहुत दुख की बात है कि आप कोर्ट के पुराने आदेश नहीं पढ़ते हैं।

loading...
शेयर करें

आपकी राय