निसान की अनोखी तकनीक, बिना हाथ लगाए दिमाग में सोचने से चलेगी कार

0

देश और दुनिया में आज टेक्नोलॉजी कितना आगे बढ़ चुकी है इसका अंदाजा भी हम नहीं लगा सकते। जापान की फेमस ऑटोमोबाइल कंपनी निसान कार ड्राइविंग की सबसे अनोखी टेक्‍नोलॉजी लेकर दुनिया के सामने आ रही है। इस तकनीक से कार में बैठा व्‍यक्ति अपने हाथों और पैरों से नही बल्कि अपने दिमाग के इशारे भर से कार को ड्राइव कर लेगा।

दिमाग को रीड करके कार को सड़कों पर दौड़ाएगी

जापान की मशहूर कार निर्माता कंपनी निसान ने एक तकनीक को पेश किया है, जिसके तहत दुनिया में कार और बाकी चौपहिया वाहनों को चलाने का तरीका बदल जायेगा। निसान ने इस अनोखी तकनीक को ‘बी2वी’ नाम दिया है। इस तकनीक के साथ आने वाली कार इतनी स्‍मार्ट होगी कि स्‍टीयरिंग के बिना, सिर्फ कार चलाने वाले के दिमाग को रीड करके कार को सड़कों पर दौड़ाएगी।

ये अपनी तरह की पहली तकनीक है

कंपनी के एक्‍सीक्‍यूटिव वाइज प्रेजीडेंट का दावा है कि बी2वी तकनीक दुनिया में अपनी तरह की पहली तकनीक है, जो दिमाग के संकेत को रियल टाइम से पहचान करके वाहनों को चलायेंगी। इसमें कार की ड्राइविंग सीट पर बैठा व्‍यक्ति अपने सिर पर माइक्रोसेंसर से लैस एक छोटी सी कैप लगाएगा। यह कैप हर सेकेंड ड्राइवर की ब्रेन मैपिंग करेगी और उससे निकलने वाले संकेतों को इस हाईटेक कार को भेजेगी।

5 से 10 साल तक का वक्त लग सकता है

निसान ने रिसर्च की है जिससे ड्राइवर के ब्रेन से निकलने वाली तरंगों को समझा जा सकेगा। इस स्पेशल तकनीक को निसान सीईएस 2018 में पेश करेगी। ब्रेन कोडिंग पर बेस्ड निसान अपनी यह खास टेक्नॉलजी का डेमो सीईएस 2018 में देगी। कंपनी के अनुसार इस तकनीक के अमल में आने में अभी 5 से 10 साल तक का वक्त लग सकता है।

loading...
शेयर करें