बिहार में सीएम नीतीश के काफिले पर हुआ था जानलेवा हमला, तेजस्वी बोले – ये तो होना ही था

0

पटना। क‍ल बिहार में एक बड़ी घटना घटी। बक्सर जिले में सीएम नीतीश कुमार के काफिले पर विकास समीक्षा यात्रा के दौरान स्थानीय लोगों ने जमकर पथराव कर दिया। जिसके बाद वहां बवाल मच गया। हालात इतने बिगड़ गए कि पुलिस को हवाई फायरिंग तक करनी पड़ी। वहीं, अब इस मामले पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने बड़ा बयान दिया है।

यह भी पढ़ें : जानें क्यों राहुल गांधी के लिए बेहद खास है कर्नाटक विधानसभा चुनाव, आज नेताओं करेंगे मुलाकात

तेजस्वी यादव ने कहा, उनके साथ यह तो होना ही था

नीतीश कुमार के काफिले के ऊपर हुए इस हमले को लेकर तेजस्वी यादव ने एक तरफ दुख व्यक्त किया हैृ, तो दूसरी ओर कहा है कि उनके साथ यह तो होना ही था। तेजस्वी ने कहा कि जिस दिन से नीतीश कुमार ने समीक्षा यात्रा की शुरुआत की है, उसी दिन से उन्हें लोगों के विरोध, प्रदर्शन और नारेबाजी का सामना करना पड़ रहा है। बता दें नीतीश कुमार के काफिले पर जमकर पत्थरबाजी की गई है जिससे कई गाड़ियों के शीशे टूट गए हैं और सीएम को बमुश्किल वहां से सुरक्षित निकाला गया है।

यह भी पढ़ें : वोट की खातिर बीजेपी खेलने जा रही मुस्लिम कार्ड – ममता के उड़े होश, सत्ता पर मंडराया खतरा

गांव वालों का क्या कहना है

बताया जा रहा है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने सीएम के कारकेड पर हमला कर दिया और जमकर  पत्थरबाजी की, जिससे काफिले में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए  हैं। सुरक्षाकर्मियों ने किसी तरह अपनी जान बचाई और गाड़ी लेकर भाग खड़े हुए। इस घटना में कई सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हैं। वहीं, गांव के ही चमटोली के लोगों का कहना था कि विकास केवल मुख्यमंत्री को दिखाने के लिए हुए, गांव के ही दूसरे उनके तरफ कुछ नही हुआ। विरोध दायरे में था, अचानक काफिले पर कुछ असामाजिक तत्व पत्थर चलाने लगे।

तेजस्वी ने नीतीश पर कसा तंज

ग्रामीणों का  आरोप है कि सात निश्चय कार्यक्रम के तहत गांव में कोई काम नहीं हुआ, इसी को लेकर ग्रामीण विरोध जता रहे थे और सीएम को गांव लाने की मांग कर रहे थे। नीतीश पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री को पहले अपने व्यक्तित्व और राजनीतिक चरित्र की समीक्षा करनी चाहिए, उसके बाद बिहार के विकास की समीक्षा। उन्होंने कहा कि विकास समीक्षा यात्रा के दौरान नीतीश कुमार की सभा में कहीं जूते-चप्पल चलते हैं, तो कहीं भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस वालों को हवाई फायरिंग करनी पड़ती है।

loading...
शेयर करें