अब ताजमहल देखने वालों की संख्‍या होगी तय, सिर्फ तीन घंटे ही होगें दीदार

0

आगरा। दुनिया के सात अजूबों में शुमार मोहब्बत की निशानी माने जाने वाले ताजमहल के संरक्षण के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआई) एक बड़ा फैसला लेने जा रहा है। एएसआई हर दिन यहां आने वाले पर्यटकों की संख्‍या को 40 हजार तक सीमित करने पर विचार कर रहा है। इसके साथ ही पर्यटक टिकट लेने के बाद सिर्फ तीन घंटे ही परिसर में रह सकेंगे।

ताजमहल

संस्कृति मंत्रालय के मुताबिक, संस्कृति सचिव रविंद्र सिंह ने मंगलवार को एएसआई के अधिकारियों, आगरा जिला प्रशासन के प्रतिनिधियों और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की। इस बैठक में यह फैसला लिया गया कि 17वीं शताब्दी के इस शानदार स्मारक को बचाने के लिए ऐसा किया जा सकता है।

वहीं मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि यह नियम ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से टिकट लेने वाले पर्यटकों पर लागू किया जाएगा। जैसे ही टिकट की बिक्री 40 हजार तक पहुंचेगी उसे रोक दिया जाएगा।

दरअसल, अभी तक ताजमहल में घूमने आने वाले पर्यटकों की संख्‍या पर कोई प्रतिबंध नहीं था। न ही प्रवेश करने के बाद समय पर कोई रोक थी। वहीं हर साल यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या में 10 से 15 फीसदी की वृद्धि होती है। कभी-कभी संख्‍या 60-70 हजार तक पहुंच जाती है। इन सभी चीजों को ध्‍यान में रखते हुए एएसआई इस फैसले पर गंभीर से विचार कर रही है।

loading...
शेयर करें