ई-मेल के जरिये मिलेगी अब पैरेंट्स को स्टूडेंट्स की हर ऐक्टिविटी की जानकारी

0

नई दिल्ली। अक्सर हास्टल में रह रहे स्टूडेंट्स के माता-पिता को उनकी चिंता लगी रहती हैं। अगर आपका बच्चा भी हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रहा हैं तो आपके लिए एक खुशखबरी हैं। अब से हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रहे छात्रो की हर एक ऐक्टिविटी पर कॉलेज प्रशासन की पूरी नजर होगी। अब स्टूडेंट्स के माता-पिता को भी उनकी हर एक ऐक्टिविटी की जानकारी मिल सकेगी।पैरंट्स

 

जी हां ! अब से ला-मार्टिनियर बॉयज कॉलेज प्रशासन ने स्टूडेंट्स की हर एक्टिविटी पर नजर रखने के लिए एक तरीका निकाला हैं उन्होंने ‘डीन ऑफ स्टडीज’ का पद बनाया है जिसके साथ ही उनके लिए जिम्मेदारी भी तय कर दी गई है। इस व्यवस्था के बाद से छात्रों की हर एक ऐक्टिविटी की रिपोर्ट स्कूल द्वारा ई-मेल के जरिए सभी छात्रों के पैरंट्स को भेजी जाएगी। इसके साथ ही हर रोज उसे रजिस्टर में भी दर्ज करेगा जिसकी एक कॉपी प्रिसिंपल को भी भेजेगा।

डे-बोर्डिंग और हॉस्टल के स्टूडेंट्स को बनाना हैं एक समान- कॉलेज प्रशासन ने इस नई व्यवस्था के शुरू करने की वजह को बताते हुए कहा, डे-बोर्डिंग और हॉस्टल में जो भी स्टूडेंट्स रह रहे हैं उनकी शैक्षिक स्तर में समानता लाने के लिए यह व्यवस्था शुरू होगी। उन्होंने बताया ,डीन ऑफ स्टडीज स्टूडेंट्स की रिपोर्ट कॉलेज के किसी भी शिक्षक से शेयर नहीं किया जायेगा , बल्कि सीधे प्रिंसिपल कार्लाइल ए। मैकफार्लैंड को रिपोर्ट करेंगे। प्रिंसिपल कार्लाइल का कहना है कि इस व्यवस्था के बाद हर विद्यार्थी के स्तर का मुआयना हर रोज हो सकेगा।

डीन ऑफ स्टडीज निभाएगा माता-पिता की भूमिका- उन्होंने बताया कि डीन ऑफ स्टडीज हर एक स्टूडेंट के पैरंट्स की भूमिका निभाएंगे। जैसे कि हर घर में पैरंट्स अपने बच्चे पर नजर रखते हैं कि होम वर्क किया या नहीं? कितना कोर्स पूरा हुआ? कक्षा में स्टूडेंट का स्तर क्या है? क्लास खत्म होने के बाद स्टूडेंट ने कितना समझा शामिल रहेगा। कॉलेज प्रशासन के मुताबिक इस कदम से स्कूल का रिजल्ट और बेहतर आएगा।

काउंसलर करेंगे मदद- डीन ऑफ स्टडीज क्लास के खत्म होने के बाद स्टूडेंट्स की पढ़ाई का सारा मुआयना करेगी। यही नहीं, स्टूडेंट की प्रगति और उपायों के बारे में लोकल गार्जियन से टीचर्स के साथ चर्चा होगी। स्टूडेंट को किसी भी तरह की पढ़ाई में परेशानी होगी तो वे विषय संबंधित टीचर के साथ चर्चा भी कर सकेंगे। छात्रों की जरूरतों को पूरा करने के लिए कर्मचारी की भी नियुक्ति की जाएगी। इसके साथ ही पेशेवर काउंसलर, विशेष शिक्षक और करियर काउंसलर आदि की भी स्टूडेंट्स के लिए सुविधा रहेगी।

loading...
शेयर करें