अब बोर्ड एक्जाम में खराब रिजल्ट आने पर प्रिसिंपल और टिचर्स की लगेगी क्लास

0

नई दिल्ली। बोर्ड एक्जाम सर पर है, ऐसे में प्री-बोर्ड एग्जाम के नतीजों ने दिल्ली सरकार की चिंता बढ़ा दी है। इस बार सीबीएसई बोर्ड से दिल्ली के 991 स्कूलों के करीब 1.3 लाख स्टूडेंट्स 10वीं की परीक्षा के लिए बैठेंगे। सरकार ने साफ तौर पर कहा है कि बच्चों के खराब प्रदर्शन के लिए स्कूल की प्रिसिंपल और टीचर जवाबदेह होंगे।

डिप्युटी सीएम ने सख्त मनीष सिसोदिया ने मार्च से शुरू होने जा रहे 10वीं के बोर्ड एग्जाम की तैयारियों को लेकर एजुकेशन डायरेक्टर, डेप्युटी डायरेक्टर, रीजनल डायरेक्टर और दूसरे अधिकारियों के साथ रिव्यू मीटिंग की। मीटिंग में जो रिजल्ज सामने आया उसे देखकर सभी को बहुत निराशा हुई। कुछ स्कूलों में तो प्री बोर्ड एग्जाम का रिजल्ट 10 पर्सेंट से भी कम रहा है।

सके बाद डेप्युटी सीएम ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। साथ ही 3 दिन में सबसे खराब रिजल्ट वाले 10 स्कूलों की लिस्ट भी मांगी है। बचे हुए समय में कैसे सुधार किया जा सकता है, इस बारे में ऐक्शन प्लान मांगा है। सरकार ने साफ कर दिया है कि स्कूलों में खराब रिजल्ट को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। प्रिंसिपल और टीचर अपनी जवाबदेही से नहीं बच सकते। उन्हें खराब रिजल्ट को लेकर जवाब देना ही होगा।

loading...
शेयर करें