उमर अब्दुल्ला ने गिलानी की नजरबंदी पर सरकार को घेरा

0

श्रीनगर| जम्मू एवं कश्मीर में अलगाववादी नेता सैयद अली गिलानी को फिर से नजरबंद करने पर नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने मंगलवार को प्रदेश सरकार पर तंज कसा। गिलानी को नजरबंदी से दी गई मुक्ति काफी चर्चा में रही थी। पुलिस द्वारा रविवार को शोपियां मुठभेड़ में मारे गए एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार में गिलानी को शामिल होने से रोकने की खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, “क्यों? मुझे लगा था कि सरकार ने उन्हें ‘आजादी’ दे दी है। क्या हुआ?”

सैयद अली गिलानी

राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एस.पी. वैद ने पिछले सप्ताह कहा था कि प्रशासन ने अपने घर में नजरबंद चल रहे गिलानी पर से प्रतिबंध हटाने का फैसला किया है।

जम्मू एवं कश्मीर को पाकिस्तान में शामिल करने का समर्थन करने वाले गिलानी ने पिछले सप्ताह शुक्रवार को आठ साल बाद सामूहिक नमाज पढ़ी थी।

लेकिन, रविवार को दक्षिण कश्मीर में मुठभेड़ों में 20 लोगों के मरने से तनाव बढ़ने के बाद सोमवार को प्रशासन ने गिलानी को फिर से नजरबंद कर दिया।

loading...
शेयर करें