उमर का पीएम मोदी पर बड़ा आरोप, कहा- दूसरों के लिए महत्वपूर्ण मुद्दे पर चुप्पी साध लेते

0

श्रीनगर। कठुआ सामूहिक दुष्कर्म मामले पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने पीएम नरेंद्र मोदी पर बड़ा आरोप लगाया है। शुक्रवार को उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘‘माननीय प्रधानमंत्री जी कोई ऐसा दिन नहीं है जब हम आपको ऐसी चीजों पर बोलते हुए सुनते हैं, जो आपके लिए महत्वपूर्ण होता है, लेकिन कई बार ऐसे मौके आते हैं जब आप दूसरों के लिए महत्वपूर्ण मुद्दे पर बिल्कुल चुप्पी साध लेते हैं।’’ उमर ने कठुआ रेप केस को निर्भया से भी ज्यादा दर्दनाक बताया है। उन्होंने इस मामले पर पीएम मोदी से चुप्पी तोड़ने का आग्रह किया है।

मेनका गांधी ने की अपराधियों के लिए फांसी की सजा की मांग
उमर अब्दुल्ला के अलावा महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने भी मामले पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद से वो बेहद विचलित महसूस कर रही है। उन्होंने मामले में दोषी अपराधियों को फांसी की सजा देने की मांग की है।

खानाबदोश बकरवाल समुदाय की आठ वर्षीय बच्ची से बलात्कार और उसकी हत्या का मामला राष्ट्रीय मुद्दा बन गया है। कठुआ रेप केस की गंभीरता को देखते हुए इस मामले को सुप्रीम कोर्ट द्वारा स्वतः संज्ञान में लेने की संभावना जताई जा रही है। सुप्रीम कोर्ट में वकीलों के एक समूह ने कठुआ के वकीलों के आचरण के लिए सुप्रीम कोर्ट में भारत के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा से अनुरोध किया है और इस संबंध में जनहित याचिका दायर की जा सकती है।

जानिए क्या है पूरा मामला
10 जनवरी को जम्मू के कठुआ जिले में हीरानगर तहसील के रसाना गांव में बक्करवाल समुदाय की बच्ची का अपहरण होने के बाद 17 जनवरी को झाड़ियों में उसका शव मिला था। कठुआ के रासना गांव में जनवरी में बाकरवाल समुदाय की बच्ची का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के मामले में मुख्य आरोपी सांजी राम समेत आठ लोगों का आरोपी बनाया गया है।

loading...
शेयर करें