69वें गणतंत्र दिवस के मौके पर टेलीविजन कलाकारों ने साझा की पुरानी यादें

0

मुंबई: टेलीविजन कलाकारों ने तिरंगे शेड्स के कपड़े पहनने से लेकर रंगारंग परेड देखने तक की गणतंत्र दिवस से जुड़ी अपनी पुरानी यादें साझा की। अर्जुन बिजलानी, प्रियंवदा कांत और विवियन डिसेना जैसे सितारों ने भारत के 69वें गणतंत्र दिवस के मौके पर अपने बचपन के दिनों को याद किया।

प्रियंवदा कांत : मैं बहुत बड़ी देशभक्त हूं, जब मैं छोटी थी तो गणतत्र दिवस का जश्न धूमधाम से मनाती थी। मैं सुबह जल्दी उठ जाती और अपने माता-पिता के साथ परेड देखती। प्रत्येक राज्य की संस्कृति की झलक और उनका नृत्य प्रदर्शन मेरी पसंदीदा बीट थी।
हर्षद चोपड़ा : जब मैं छोटा था तो गणतंत्र दिवस के लिए बहुत उत्साहित रहता था। मुझे याद है कि लिविंग रूम में पूरा परिवार और दोस्त एक साथ बैठकर टेलीविजन पर परेड देखा करते थे। उस समय हवाई जहाज मुझे आकर्षित करते थे और इसलिए मैं वायु सेना का प्रदर्शन देखने के लिए उत्साहित रहता था, जिसका मुझे अब भी इंतजार रहता है।

अर्जुन बिजलानी : मेरा बेटा अयान हाल ही में 3 साल का हुआ है और इस गणतंत्र दिवस पर मैं उसे तिरंगा दे रहा हूं, वह हमारे राष्ट्रगान और झंडे के बारे में जानता है,लेकिन मैं उसे निजी रूप से एक झंडा उपहार में दूंगा, क्योंकि मैं चाहता हूं कि वह इसका मूल्य समझे। मैं भी उसे एक बार दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड में ले जाना चाहता हूं, क्योंकि वहां पर वातावरण बहुत देशभक्ति और उत्साहवर्धक होता है।

विवियन डिसेना : गणतंत्र दिवस पर सभी से ध्वज का सम्मान करने का अनुरोध करता हूं। राष्ट्रीय ध्वज हमारे राष्ट्र का सम्मान और गौरव का प्रतीक है। स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस पर ध्वज का काफी उपयोग होता है। कागज और प्लास्टिक से बना झंडे बेचने का एक नया रुझान है। हम सभी उत्साह से इन झंडों को खरीदते हैं, लेकिन अगले दिन, इन झंडे को सड़कों, कूड़ेदानों और अन्य जगहों पर पड़ा देखते हैं। हमें ऐसा नहीं करना चाहिए।

धीरज सरना : जिम्मेदार नागरिक होने के नाते हमें अपने कर्तव्यों को पूरा करना चाहिए और अनुशासित जीवन जीना चाहिए। मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि वे दिन में जश्न मनाएं लेकिन भारत को जीने के लिए बेहतर जगह बनाने के लिए अधिक जिम्मेदार बनें।

loading...
शेयर करें