पीएम मोदी राजस्थान को देने जा रहे हैं पहली रिफाइनरी का तोहफा, सोनिया गांधी ने रखी थी आधारशिला

0

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक तेल रिफाइनरी के कार्य का शुभारंभ करेंगे और साथ ही एक सार्वजनिक सभा को भी संबोधित करेंगे। मोदी ने ट्वीट कर कहा, राजस्थान की यात्रा को लेकर आशान्वित हूं। बाड़मेर के पचपदरा में राजस्थान रिफाइनरी के कार्य शुभारंभ समारोह में शिरकत करूंगा और एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करूंगा।

तेल और गैस भंडार से परिपूर्ण है

उन्होंने कहा, राजस्थान रिफाइनरी राज्य में पहली रिफाइनरी होगी, जो तेल और गैस भंडार से परिपूर्ण है। रिफाइनरी से राजस्थान को विशेष रूप से राज्य के मेहनती युवाओं को लाभ होगा। यह परियोजना हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरशन लि। और राजस्थान सरकार का संयुक्त उपक्रम है, जिसकी लागत 43,000 करोड़ रुपये अधिक है। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 22 सितंबर 2013 में इसकी आधारशिला रखी थी।

अशोक गहलोत रिफाइनरी का काम शुरू नहीं करवा पाए

लेकिन कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत रिफाइनरी का काम शुरू नहीं करवा पाए, 2013 के चुनाव में वसुंधराराजे की सरकार बनी तब इस आधार पर रिफाइनरी के एमओयू को ही खारिज कर दिया। इसलिए कि ये जनता और सरकार पर भार है। एमओयू की शर्ते खजाने पर भारी हैं। रिफाइनरी घाटे का सौदा है क्योंकि राज्य सरकार की महज 26 फीसदी भागीदारी है।

बाड़मेर और जोधपुर में पेट्रोकेमिकल हब का निर्माण होगा

केंद्र और राजस्थान सरकार का दावा है कि बाड़मेर और जोधपुर में पेट्रोकेमिकल हब का निर्माण होगा। इससे पश्चिम राजस्थान में लोगों को रोजगार मिलेगा। विशेषज्ञों का मानना ह कि राजस्थान में तेल का उत्पादन 15 साल पहले ही शुरू हो गया था। ऐसे में ये रिफाइनरी का प्रोजेक्ट काफी देर से शुरू हुआ।

loading...
शेयर करें