बाराबंकी : जहरीली शराब पीने से अब तक 9 की मौत, कई गंभीर, जांच शुरू

0

लखनऊ। प्रदेश की सत्ता में आने के बाद योगी सरकार ने जहरीली शराब पर नियंत्रण रखने के लिए आबकारी एक्ट में नई धारा जोड़ी दीं। इस नए कानून के मुताबिक, जहरीली शराब से मौत या स्थायी अपंगता पर दोषियों को आजीवन कारावास या 10 लाख का जुर्माना या दोनों अथवा मृत्युदंड तक का प्रावधान किया गया है। लेकिन उसके बाद भी इस धंधे को करने वालों के दिल में खौफ नहीं है। ताजा घटना बाराबंकी की है जहां बुधवार को जहरीली शराब पीने से अभी तक 9 लोगों के मौत हो गयी है।

बताया जा रहा है कि ये सभी लोग अलग-अलग गांव से थे और ये सभी बाराबंकी पुलिस स्‍टेशन के अंतर्गत आते हैं। प्रशासन इस घटना को छुपाने में लगा हुआ है। बाराबंकी के जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने कहा कि तीन लोगों की मौत जहरीली शराब पीने की वजह से हुयी है जबकि तीन की ठंड की वजह से।

फिलहाल सभी शवों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है जिससे मौत की असल वजह सामने आ सके। मिली जानकारी के मुताबिक घटना बाराबंकी देवा कोतवाली के ढिंढोरा गांव का है। जहां बुधवार को सभी लोग अपने रिश्‍तेदार के यहां एक समारोह में शामिल होने के लिए इक्‍ट्ठा हुए थे।

इस दौरान सभी लोगों ने मिलकर शराब पी। इसके बाद सभी लोगों की तबीयत बिगड़ने लगी और सभी को पास के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। स्‍थानीय जिला प्रशासन ने इस घटना की पुष्टि की है। कई लोगों को लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में भी भर्ती कराया गया जहां उनकी हालात में कोई सुधार नहीं हुआ।  मिली जानकारी एक मुताबिक, इस घटना को प्रशासन दबाने में लगा था। वहीँ जिला प्रशासन का दावा है कि इन लोगों की मौत जहरीली शराब से नहीं बल्कि ठंड के कारण हुई है। पुलिस मामले की जाँच में जुट गयी है।

जबकि घटना की जानकारी मिलते ही लखनऊ से एक टीम बाराबंकी भेजी गई है। इस बात की जानकारी आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह दी। उन्होंने कहा कि बाराबंकी के जिला प्रशासन के साथ मिलकर टीम जांच कर रही है। अगर यह पुष्टि हो जाती है कि जहरीली शराब से ही मौतें हुई हैं तो जिम्मेदार अफसरों और जहरीली शराब बेचने वाले लोगों के खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की जाएगी। और नया कानून बनाया गया है उन्ही धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी।

loading...
शेयर करें