मुंबई अग्निकांड मामले में पुलिस ने तीनों पब मालिकों को किया गिरफ्तार, एक लाख का था इनाम

0

मुंबई| मुंबई पुलिस ने उन तीनों पब मालिकों को गिरफ्तार कर लिया है जिनके पब में आग लगने से 14 लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस को यह कामयाबी घटना के 13 दिन बीत जाने के बाद मिली। पुलिस ने बुधवार देर रात बांद्रा से 1 एबव रेस्टोरेंट के तीन मालिकों को गिरफ्तार कर लिया। एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि तीनों को गुरुवार अपराह्न अदालत में पेश किया जाएगा।

तीनों फरार मालिक कृपेश संघवी, जिगर संघवी और अभिजीत मानकर पर मुंबई पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। उन पर हत्या का का नहीं, बल्कि गैर-इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किय गया है। तीनों बुधवार देर रात जब अपने वकील से मिलने जा रहे थे, तो बांद्रा पश्चिम के लिंकिंग रोड पर धरे गए।

29 दिसंबर, 2017 को पब में लगे आग में 14 लोगों की जलकर मौत हो गई थी, जबकि 55 अन्य घायल हो गए थे। इस मामले में अब तक कुल छह लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

तीनों के अलावा अन्य को आरोपी को बचाने के आरोप में धरा गया, जिसमें मोजोजबिस्त्रो का एक सह-मालिक और पूर्व डीजीपी रैंक के आईपीएस अधिकारी के।के। पाठक के बेटे युग पाठक शामिल हैं।

पाठक का एक अन्य साथी युग तुली अभी फरार है। दो दिन पहले उसे हैदराबाद में देखा गया था, लेकिन वह पुलिस को चकमा देने में कामयाब रहा।

लोअर परेल के कमला मिल्स कम्पाउंड में मोजोज बिस्त्रो, 1 एबव और अन्य प्रतिष्ठानों में आग लगने के बाद फरार तीनों आरोपियों की मदद करने के आरोप में बुधवार को उनके एक दोस्त विशाल करिया को भी गिरफ्तार किया गया।

मुंबई फायर ब्रिगेड (एमएफबी) ने अपनी जांच में कहा कि उस भयावह रात को आग सबसे पहले मोजोज बिस्त्रो पब के ऊपरी हिस्से में लगी, जो बाद में 1 एबव और परिसर के अन्य हिस्सों में फैल गई।

loading...
शेयर करें