जमीन दिलाने के नाम पर 68 लाख की ठगी करने वाला आऱोपी चढ़ा पुलिस के हत्थे

0

देहरादून। उत्तराखंड में अपने को रिकवरी एजेंट बता कर लाखों की ठगी करने वाला आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार करेक जेल भेज दिया। बता दें कि यह ठगी नीलामी में चाय बागान की जमीन दिलाने के नाम पर की गई थी। इसके लिए आरोपी ने 68 लाख रुपये लिए थे। इस मामले में पुलिस ने गंभीरता दिखाते हुए रिकवरी एजेंट को शनिवार रात दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया।

अपने को रिकवरी एजेंट बताने वाला यह ठग मूलरूप से कानपुर का रहने वाला है। इस धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी दिल्ली फरार हो गया था। गिरफ्तारी के बाद आऱोपी को रविवार को दून कोर्ट में पेश कर दिया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

जानें क्या था पूरा मामला

आपको बताते चले कि कौलागढ़ स्थित चाय बागान की 530 वर्ग गज भूमि बैंक में बंधक रखी है। सुधा शर्मा, रश्मि धीमान व राजेश रानी निवासी वसंत  विहार का आरोप है कि आर्यन स्टेट प्राईवेट लिमिटेड के निदेशक अमित तिवारी व अन्य ने इस भूमि को नीलामी के जरिये उन्हें दिलाने के नाम पर 68 लाख रुपये ऐंठ लिए। आरोपियों ने खुद को बैंक का रिकवरी एजेंट बताया था।

इस मामले में इंस्पेक्टर कैंट एसएस बिष्ट ने बताया कि अमित तिवारी उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश व दिल्ली के विभिन्न बैंकों में आर्य स्टेट प्राईवेट लिमिटेड के नाम से एक रिकवरी फर्म बनाता था और बैंक मैनेजरों से सांठगांठ कर बंधक संपत्ति दिलाने के नाम पर लोगों को झांसे में लेते था। दिल्ली व उत्तर प्रदेश में गिरोह ने अन्य लोगों के साथ भी ठगी की है, जिसका ब्योरा मंगाया जा रहा है।

loading...
शेयर करें