महिला के शव को पुलिस ने उठवाया अर्थी से, मचा हड़कंप

0

नैनीताल। उत्तराखंड के रानीपुर कोतवाली क्षेत्र की विष्णुलोक कॉलोनी निवासी एक विवाहिता की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। अंतिम संस्कार की तैयारी चल रही थी, तभी मायके वालों ने लखनऊ से पुलिस को फोन कर ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाया।

इसके बाद हुआ कुछ ऐसा,जिसके बारे में सोचा भी नहीं जा सकता था। पुलिस ने आनन-फानन मौके पर पहुंच कर शव को अर्थी से उठवा लिया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं मायके वाले लखनऊ से हरिद्वार के लिए रवाना हो चुके हैं।

आपको बताते चले भेल पुनर्वासित विष्णुलोक कॉलोनी निवासी अमर सिंह की पत्नी डिंपल का जौलीग्रांट स्थित हिमालयन अस्पताल में इलाज चल रहा था। अस्पताल में ही उसकी मौत हो गई। ससुराल वालों ने मायके में सूचना देकर विवाहिता के अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी। सोमवार शाम लखनऊ से मायके वालों ने पुलिस को फोन कर बताया कि ससुराल वालों ने उनकी बेटी की हत्या कर दी है और आनन-आनन अंतिम संस्कार करने जा रहे हैं।

हत्या की बात सुनकर पुलिस में भी हड़कंप मच गया। कार्यवाहक कोतवाली प्रभारी दिलमोहन बिष्ट टीम लेकर तुरंत कॉलोनी में पहुंचे। तब तक शव को अर्थी पर लिटाया जा चुका था। अचानक पुलिस को देखकर परिवार व आस-पास के लोग भी सकते में आ गए।

पुलिस ने मायके वालों की आशंका से उन्हें अवगत कराते हुए अर्थी से शव उठवा लिया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। ससुराल वालों का कहना था कि विवाहिता को लकवा हुआ था। इलाज के दौरान उसकी मौत हुई है। कार्यवाहक कोतवाल दिलमोहन बिष्ट ने बताया कि अमर सिंह व डिंपल की शादी चार साल पहले हुई थी। शव का पंचायतनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है। मायके वालों के आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

loading...
शेयर करें