पुलिस अधिकारी ने किया दावा, दंगे भड़काने में इन लोगों ने किया पैसों का इस्‍तेमाल!

0

पुलिस अधिकारीभोपाल। एससी-एसटी ऐक्‍ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भारत बंद के दौरान सबसे ज्‍यादा हिंसा मध्‍य प्रदेश में हुई। वहीं अब इस हिंसा पर एक सबसे बड़ा खुलासा हुआ है। यह खुलासा खुद आईजी इं‍टेलिजेंस मकरंद देउसकर ने किया है।

पुलिस अधिकारी का दावा

देउसकर ने बताया है कि मध्‍य प्रदेश में दंगे भड़काने में मोटी रकम बांटी गई। खास बात ये है इस में कई पुलिस अफसर और कारोबारी भी शामिल हो सकते हैं। बता दें कि मध्‍य प्रदेश में हिंसा के दौरा आठ लोगों की मौत हो गई थी। यही नहीं यहां अभी भी हालात सामान्‍य नहीं हो पाए हैं।

Also Read : कर्नाटक चुनाव से ठीक पहले बीजेपी को जबरदस्‍त झटका, कांग्रेस को मिला सबसे बड़ा साथ

खबरों के मुताबिक, ग्‍वालियर के तीन थानों में अभी भी कर्फ्यू जारी है। वहीं पुलिस अधिकारी के इस खुलासे के बाद अब कई सवाल उठने लगे हैं। क्‍या दलितों की ओर से किए गए भारत बंद आंदोलन बाहरी तत्‍वों ने बदनाम करने की साजिश रची थी।

Also Read : 2019 से पहले ये बड़ा काम करने वाले हैं योगी, पीएम मोदी से पहुंचे मिलने

ग्वालियर, भिंड और मुरैना जिलों में करीब 389 लोगों को गिरफ्तार किया गया। अब तक कुल 100 से अधिक लोगों को ग्वालियर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। भिंड जिले में 159 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। तीनों जिलों में अभी तक कोई घटना और नहीं हुई और धीरे-धीरे शांति बहाली हो रही है।

Also Read : मनु भकर ने शूटिंग में जीता 6th गोल्ड, लिस्ट में तीसरे नंबर पर पहुंचा भारत

आपको बता दें कि एसस/एसटी ऐक्ट में किए गए सुप्रीम कोर्ट से बदलाव के विरोध में दलित संगठनों ने 2 अप्रैल को भारत बंद बुलाया था। जिसमें कई राज्यों में बड़े पैमाने पर हिंसा हो गई थी। कई जगहों पर तोड़फोड़, आगजनी और मारपीट की घटनाएं सामने आई थीं।

loading...
शेयर करें