बजट सत्र : लगातार चौथे दिन भी लोकसभा में कामकाज रहा ठप, कार्यवाही स्थगित

0

नई दिल्ली। बजट सत्र के चौथे दिन भी लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ। जिसके बीच दिनभर के लिए सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई। पीएनबी घोटाले और अन्य मुद्दों पर विपक्ष हंगामा किया। महाजन ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नागरिकों और सांसदों को शुभकामनाएं दी, जिस दौरान लोकसभा अध्यक्ष संदेश पढ़ रही थी, सभी सासंद अपनी सीटों पर मौजूद थे।

सदन की कार्यवाही स्थगित

सदन में नारेबाजी भी हुई

हालांकि उसके थोड़ी देर बाद विपक्षी दल के सांसद अध्यक्ष के आसन के पास इकट्ठा हो गए और नारेबाजी करने लगे। संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने सदस्यों से अपनी अपनी सीटों पर जाने का आग्रह किया और कहा कि प्रश्न काल के बाद बैंकिंग अनियमितताओं पर चर्चा की जाएगी। मंत्री ने कहा, हम प्रश्न काल के बाद बैंकिंग अनियमितताओं पर चर्चा करने के लिए तैयार हैं।

सदन को दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया

विरोध जारी रहने के बाद सदन को दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। जैसे ही सदन की दोबारा से शुरुआत हुई, हालात जस के टस रहे। सदन में कोई कामकाज नहीं हुआ, जिसके बाद सदन की कार्यवाही को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया गया। महाजन ने इससे पहले बुधवार को सांसदों के साथ बैठक की, जो बेनतीजा रही।

एआईएडीएमके कावेरी प्रबंधन बोर्ड को लेकर सदन में हंगामा करती रही

विपक्षी सदस्य उस प्रस्ताव के तहत बैंकिंग अनियमितताओं पर चर्चा चाहते हैं, जिसमें वोटिंग अनिर्वाय हो लेकिन सरकार बिना वोटिंग के चर्चा के लिए तैयार है। तेदेपा के सदस्य इस बीच आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग करते रहे जबकि एआईएडीएमके कावेरी प्रबंधन बोर्ड को लेकर सदन में हंगामा करती रही।

कांग्रेस और विपक्षी पार्टियां नियम 52 के तहत बहस चाहती हैं

खास बात यह है कि बीजेपी और विपक्ष दोनों बैंकिंग घोटाले पर बहस चाहते हैं लेकिन झगड़ा इस बात पर है कि बहस किस नियम के तहत हो। कांग्रेस और विपक्षी पार्टियां नियम 52 के तहत बहस चाहती हैं जिसमें वोटिंग का भी प्रावधान है। कांग्रेस का यह भी आरोप है कि सरकार ने बहस के विषय को जानबूझकर बदला है ताकि इसमें पंजाब नेशनल बैंक के घोटाले से ध्यान हट कर पुराने मामलों पर ज्यादा बहस हो।

loading...
शेयर करें