राबड़ी देवी के एक बयान से बिहार की राजनीति में आया भूचाल, जानें पूरा मामला

0

पटना। बिहार की राजनीति में एक बार फिर हंगामा मचा हुआ है। इस बार हंगामें की वजह सूबे की पूर्वमुख्यमंत्री राबड़ी देवी बनी हुई है। राबड़ी देवी ने वर्तमान मुख्यमंत्री को पद छोड़ने की बात कही है। दरअसल रांची स्थित केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) अदालत द्वारा बिहार के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह को चारा घोटाले में नोटिस जारी करने के अगले दिन बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पद से हटाने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की।

राबड़ी ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि अब जब सीबीआई अदालत ने राज्य के मुख्य सचिव को चारा घोटाले में नोटिस जारी किया है तो अब उनकी अंतरात्मा कहां गई..अब वह शांत क्यों हैं?” वर्तमान में चारा घोटाला से संबंधित दो मामलों में रांची जेल में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद की पत्नी रावड़ी देवी ने कहा, “सीबीआई अदालत द्वारा अंजनी कुमार सिंह को चारा घोटाले में नोटिस जारी करने के बाद उन्हें बर्खास्त किया जाना चाहिए और उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

बिहार विधान परिषद में राजद की सदस्य राबड़ी देवी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सीबीआई अदालत के नोटिस पर नीतीश कुमार की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है, लगता है कि उनकी अंतरात्मा मर चुकी है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार की अंतरात्मा मात्र मेरे छोटे बेटे और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के मामले में जागी थी। सदन में ज्यादातर पार्टी सदस्यों ने राबड़ी देवी का समर्थन किया। सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले में अंजनी कुमार सिंह और छह अन्य के खिलाफ नोटिस जारी किया है। अदालत ने उन्हें 28 मार्च को पेश होने का निर्देश दिया है। उन पर दुमका कोषागार से अवैध रूप से रुपये निकालने का आरोप है।

loading...
शेयर करें