राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर फिर बोला बड़ा हमला, जेटली पर लगाए कई गंभीर आरोप

0

नई दिल्ली: वर्तमान समय में सड़क से लेकर संसद तक में देश में हुए बैंकिंग घोटालों की चर्चा है। सड़कों पर जहां पीएनबी को 11,800 करोड़ रुपये की चोट देने वाले नीरव मोदी का नाम लोगों की जुबां पर है। वहीं इसी नाम को हथियार बनाकर विपक्षी पार्टियां संसद की कार्यवाही पूरी नहीं होने दे रही है। सरकार विपक्षी पार्टियों के आरोपों से अपना पल्ला झाड़ते नजर आ रही है और कांग्रेस बराबर मोदी सरकार के सिर आरोपों का ठीकरा फोड़ती जा रही है।

इसी क्रम में पीएनबी घोटाले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर एक नया आरोप मढ़ दिया है। इस बार उन्होंने केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा है। दरअसल, राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पीएनबी से जुडी एक खबर साझा करते हुए अरुण जेटली और उनकी बेटी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। अपने इस ट्वीट में उन्होंने कहा है कि पीएनपी घोटाले पर वित्तमंत्री (अरुण जेटली) की चुप्पी से साफ है कि वे अपनी वकील बेटी को बचाना चाह रहे थे।

अपने ट्वीट के माध्यम से उन्होंने आरोप लगाया है कि उनकी बेटी को पीएनबी घोटाले के आरोपी ने एक महीने पहले ही बड़ी रकम दी थी। यह रकम घोटाले के सार्वजनिक होने के एक महीने पहले ही दी गई थी। इस ट्वीट में यह भी पूछा गया है कि जब आरोपी से जुड़ी बाकी लॉ फर्म पर सीबीआई ने छापा मारा तब इस लॉ फर्म को क्यों छोड़ दिया गया। इस ट्वीट के साथ #ModiRobsIndia हैशटैग डाला गया है।

आपको बता दें कि पीएनबी बैंक और अन्य बैंकों के अधिकारियों से मिलीभगत कर कुछ बड़े कारोबारियों ने नियमों की अनदेखी कर बैंकों से लोन लिया और उस पैसे को वापस नहीं किया। पीएनबी बैंक ने माना है कि कुछ लोगों की मिलीभगत से कुछ खातेदारों को फायदा पहुंचाने के लिए ये घपला किया गया है।

बैंक का ये भी कहना है कि इस लेनदेन के आधार पर ऐसा लगता है कि दूसरे बैंकों ने भी विदेश में भी इन ग्राहकों को एडवांस दिए हैं यानी दूसरे बैंकों पर भी इसका असर पड़ सकता है। इसका असर अभी तक यह हुआ है कि बैंकिंग सेक्टर से जुड़े शेयरों में गिरावट चली आ रही है।

loading...
शेयर करें