बीजेपी के राज्य में घुसकर केजरीवाल की ‘आप’ पार्टी ने लहराया जीत का परचम

0

नई दिल्ली। दिल्ली की आम आदमी पार्टी अब सिर्फ राजधानी तक ही सीमित नहीं है, वो और राज्यों में भी खुद को फैलाने की कोशिश कर रही है। बीते दिनों दिल्ली के सीएम और ‘आप’ के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गोवा और पंजाब के विधानसभा चुनावों में ‘आप’ को मैदान में उतारा था। हालांकि पार्टी ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई थी लेकिन दिल्ली से बाहर निकलने में कामयाब हुई थी। अब ‘आप’ पार्टी ने बीजेपी शासित एक और राज्य में कदम रखा है। इतना ही नहीं कदम रखते ही ‘आप’ ने यहां जीत का परचम भी लहराया।

कुमार विश्वास को कमान सौंपने के बाद जमीनी हकीकत भी सामने आने लगी

राजस्थान में आम आदमी पार्टी भले ही अपनी बहुत पकड़ अभी तक बना पाने में नाकाम रही हो लेकिन कुमार विश्वास को राजस्थान की कमान सौंपने के बाद इसकी जमीनी हकीकत भी सामने आने लगी। पार्टी की छात्रविंग राजस्थान छात्र युवा संघर्ष समिति (सीवायएसएस) ने अपनी जोरदार धमक दिखाई है।

राजस्थान यूनिवर्सिटी के छात्र संघ चुनाव में सीवाईएसएस को बड़ी कामयाबी मिली है। सीवायएसएस पहली बार राजस्थान यूनिवर्सिटी के इलेक्शन में हिस्सा ले रही है, ऐसे में इस जीत को काफी बड़ी माना जा रहा है।

अजमेर भागवंत यूनिवर्सिटी के रामलाल घाकड़ ने अध्यक्ष पद का चुनाव जीत लिया है

राजस्थान छात्र युवा संघर्ष समिति के बैनर तले चुनाव में बालाजी महाविद्यालय साधासर नोखा के चारों उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है। वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास को राजस्थान प्रभारी बनाने के बाद ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवल ने उन्हें सूबे की अहम जिम्मेदारी सौंपी थी।

दिल्ली से चांदनी चौक से विधायक अल्का लांबा की माने तो राजस्थान में पार्टी के 12 अध्यक्ष पद, 8 पैनल, 35 उम्मीदवारों के साथ दो यूनिवर्सिटी के 50 से ज्यादा सीटों पर पार्टी ने जीत हासिल की है। दूसरी तरफ अजमेर भागवंत यूनिवर्सिटी के रामलाल घाकड़ ने अध्यक्ष पद का चुनाव जीत लिया है।

loading...
शेयर करें

आपकी राय