राजस्थान बजट : उपचुनाव हारते ही सीएम वसुंधरा की खुलीं आखें, किसानों के लिए कर दिया बड़ा ऐलान

0

जयपुर। हाल ही में राजस्थान में दो सीटों पर लोकसभा और एक सीट पर विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी को बुरी तरह से हार मिली थी। यहां कांग्रेस ने एक तरफा जीत हासिल की थी। इसके साथ ही बीजेपी के गढ़ राजस्थान में सरकार को अपनी कुर्सी हिलती दिखाई दी। यहां इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके मद्देनजर वसुंघरा सरकार ने राजस्थान  का 5वां बजट पेश किया जिसमें राज्य के किसानों के लिए बड़ा ऐलान किया है।

राजस्थान का 5वां बजट पेश कर रही हैं

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे वित्त वर्ष 2018-19 के लिए राजस्थान सरकार का 5वां बजट पेश कर रही हैं। सरकार ने कहा कि राजस्थान में किसानों पर 30 सितंबर तक के 50 हजार तक के लोन और ओवर ड्यू पर ब्याज की माफ होगा। 400 KV के एक सब स्टेशन का लोकार्पण होगा। 7,00,000 नए बिजली कनेक्शन दिए जाएंगे। साथ ही किसानों के हितों में 2 लाख कृषि कनेक्शन दिए जाएंगे। यह भी माना जा रहा है कि इस बजट का फोकस गुड गवर्नेंस पर रहेगा साथ ही यह किसानों के लिए भी कई सौगातें लेकर आएगा।

77,100 खाली पड़े पदों पर भर्ती की जाएगी

सीएम वसुंधरा राजे ने अंडर 19 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य जयपुर के क्रिकेटर कमलेश नागरकोटी को 25 लाख रुपए देने की घोषणा की है। इसके अलावा सीएम ने कहा कि एक हजार आठ सौ 32 स्कूलों को क्रमोन्नत किया जाएगा। 77,100 खाली पड़े पदों पर भर्ती की जाएगी। राज्य के 18 उपखंडों पर नए राजकीय कॉलेज खोला जाएगा।

सीएम वसुंधरा राजे ने शेर पढ़कर शुरू किया बजट भाषण –

”मंजिलें बड़ी जिद्दी होती हैं

हासिल कहां नसीब से होती है

वहां तूफान भी हार जाते हैं

जहां कश्तियां जिद पर होती हैं’’

राजस्थान  का 5वां बजट की मुख्य बातें –

  • मुख्यमंत्री सक्षम योजना से 5 लाख बालिकाओं का फायदा।
  • सभी विधानसभा क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण होगा।
  • 80 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को रोडवेज में फ्री सफर। अटेंडेंट को 50 फीसदी रियायत।
  • सभी विधानसभा क्षेत्रों में सड़कों का निर्माण होगा।
  • नाबार्ड योजना के तहत काम किए जाएंगे।
  • हर तबके का विकास करना हमारा लक्ष्य।
  • नई रेल लाइन जोड़ने की योजना शुरू की जा रही है। यह पश्चिमी राजस्थान के विकास के लिए वरदान।
  • जैसलमेर आर बाड़मेर को मुंद्रा पोर्ट से जोड़ा जाएगा।
  • ड्राइविंग लाइसेंस, व्हीकल रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया होगी पेपरलैस।
  • पुराने जयपुर की लौटेगी रौनिक।
  • डार्क जोन वाले जिलों को नदी परियोजना से जोड़ा जाएगा, इसमें दौसा, करौली, सवाई माधोपुर जैसे जिले शामिल।
  • अकलेरा में नाली के लिए 10 करोड़।
  • द्रव्यवती नदी के रूप का होगा कायाकल्प।
  • 13 लाख से ज्यादा युवाओं को रोजगार, स्वरोजगार के अवसर।
  • देश में पहली स्किल यूनिवर्सिटी की स्थापना।
  • दिल्ली जाने वालों के लिए बनेगा अंडरपास।
  • जयपुर के रामनिवास बाग में बनेगा अंडरपास।

loading...
शेयर करें