राम नाईक ने कहा- आने वाले समय में लड़कों को लेना पड़ेगा आरक्षण

0

आगरा। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने लड़कियों की बढती उपलब्धियों को देखते हुए आने वाले समय में लड़कों को आरक्षण लेने की बात कही है। उन्होंने मजाकिया लहजे में उन्होंने कहा कि जिस तरह से विश्वविद्यालय के कुल 114 पदकों में से 84 प्रतिशत अकेले लड़कियों ने जीते हैं, उससे लगता है कि आने वाले समय में लड़कों को आरक्षण मांगना पड़ेगा।

राम नाईक मंगलवार को डॉ. अंबेडकर विश्वविद्यालय के 83वें दीक्षांत समारोह में शरीक हुए। इस दौरान राज्यपाल उन्होंने कहा कि आगरा के विश्वविद्यालय में 114 पदकों में से केवल 19 पदक छात्रों को मिल सके हैं। बाकी के 95 पदक छात्राओं को मिले। इस पर राज्यपाल ने चुटकी ली और कहा कि ऐसे तो लड़कों को आरक्षण मांगना पड़ेगा।

इससे पूर्व दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मौजूदगी में नाईक ने कहा, “यह मेरे उत्तर प्रदेश और खासकर आगरा के लिए गौरव की बात है कि राष्ट्रपति का प्रदेश के किसी भी उच्च शिक्षण संस्थान में पहला दीक्षांत उद्बोधन है। राष्ट्रपति कोविंद खुद इस विश्वविद्यालय के मेधावी छात्र रहे हैं। ऐसे में यह अवसर और महत्वपूर्ण हो जाता है।”

विश्वविद्यालय के 83वें दीक्षांत समारोह में भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को डाक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया गया। उन्हें विश्वविद्यालय के कुलपति अरविंद कुमार दीक्षित ने डी.लिट की उपाधि दी। उनके अलावा रक्षा वैज्ञानिक टेसी थॉमस को भी डाक्टरेट की उपाधि दी गई। उन्हें रक्षा क्षेत्र में योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

loading...
शेयर करें

आपकी राय